Home  »  Eat WellHindi   »   विटामिन सीः कमी, कारण और लक्षण

विटामिन सीः कमी, कारण और लक्षण

 

Vitamin c deficiency

क्या आपको पता है कि आपको विटामिन सी की कमी हो सकती है? ऐसा इसलिए संभव है क्योंकि विटामिन सी पानी में घुलनशील विटामिन है और इसलिए इसकी जरूरत रोज आपके शरीर को पड़ती है। अगर आपको इस बारे में जानकारी नहीं है तो आपको विटामिन सी की कमी के कारणों और लक्षणों को ध्यान से पढ़ने की जरूरत है, क्योंकि इसकी कमी से कई प्रकार की गंभीर बीमारियों हो सकती हैं।

विटामिन सी की कमी के कारण

विटामिन सी की कमी कई कारणों से होती है जिनमें स्वस्थ आहार का कम सेवन करना, आनुवांशिक विकार, अधिक व्यायाम करना, और मेटाबोलिक सिंड्रोम आदि हैं। इसके साथ ही उच्च रक्तचाप, डायबिटीज और मोटापा के कारण भी विटामिन सी की कमी हो सकती है।

शिशु एवं वृद्ध लोगों को हो सकती है विटामिन सी की कमी

शिशु काल एवं वृद्धावस्था में भी विटामिन सी कमी पाई जाती है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी का सेवन नहीं कर पाते हैं। इस कारण उनको विटामिन सी की कमी होने की संभावना रहती है।

बाजार के दूध से शिशु को हो सकती है विटामिन सी की कमी

शोध में यह बात भी सामने आई है कि मां के दूध में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी होता है, जबकि बाजार में मिलने वाले दूध को गर्म करने के कारण विटामिन सी की मात्रा में कमी आ जाती है। इसलिए जिन शिशुओं को मां का दूध पिलाया जाता है उनको अन्य शिशुओं की अपेक्षा अधिक विटामिन सी मिलता है जिससे वे अधिक स्वस्थ रहते हैं।

पौष्टिक आहार की कमी से कम हो सकता है विटामिन सी

भारत में ऐसे हजारों लोग हैं, जो परिवार से दूर रहकर अपना जीवन यापन करते हैं। अकेलेपन और भागदौड़ वाली जिंदगी के कारण वे अपने खान-पान पर अधिक ध्यान नहीं दे पाते हैं। पौष्टिक भोजन न करने के कारण इन्हें विटामिन सी कमी हो सकती है। ऐसे लोग प्रायः कम समय में जल्दी बन जाने वाला भोजन पकाया करते हैं। इस भोजन में विटामिन सी की कमी हो सकती है।

धूम्रपान करने वालों को हो सकती है विटामिन सी की कमी

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन (एनआईएन) के अनुसार, जो  व्यक्ति धूम्रपान नहीं करते हैं, उनकी अपेक्षा धूम्रपान करने वाले लोगों के शरीर में विटामिन सी की अधिक कमी पाई जाती है। इसका मुख्य कारण धूम्रपान करने वाले लोगों द्वारा लिया जाने वाला असंतुलित आहार होता है। इसी तरह डिब्बाबंद या प्रोसेस्ड खाना खाने वाले लोगों को भी विटामिन सी की कमी होने की संभावना रहती है।

जो लोग धूम्रपान करते हैं उन्हें अपने शरीर में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा को बनाए रखे के लिए सामान्य लोगों की अपेक्षा 35 mg अधिक विटामिन सी का सेवन करना चाहिए। इस अतिरिक्त खुराक द्वारा धूम्रपान करने वाले लोगों के शरीर में निर्धारित मात्रा में विटामिन सी की पूर्ति हो सकती है।

गंभीर बीमारी की स्थिति में कम हो सकता है विटामिन सी

किसी गंभीर बीमारी होने के कारण भी शरीर में विटामिन सी की कमी हो सकती है। आंतों से जुड़ी गंभीर बीमारियों या कैंसर के कारण भी शरीर में विटामिन सी कमी हो सकती है। इसी तरह किडनी की गंभीर बीमारी भी विटामिन सी की कमी का कारण बन सकता है।

विटामिन सी की कमी के लक्षण

विटामिन सी की कमी के निम्न लक्षण हैंः-

मुंह से दुर्गंध आना और दांतों का कमजोर होना

जब शरीर में विटामिन सी की कमी हो जाती है तो इसके परिणाम के रूप में मुंह से दुर्गंध आने लगती है। दांत कमजोर होने लगते हैं। इन लक्षणों के सामने आने पर आपको डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

त्वचा का रूखा होना और चेहरे पर झुर्रियां आना

विटामिन सी की कमी से शरीर के अंगों में रूखा-पन आ जाता है। त्वचा रूखी हो जाती है, और चेहरे तथा आंखों के आस-पास झुर्रियां होने लगती हैं। अगर आपके शरीर में घाव है या कहीं चोट लगी है तो विटामिन सी कमी के कारण बीमारी को ठीक होने में देरी होती है[1]।

वायरल संक्रमण, मतली और बुखार आना

विटामिन सी की कमी होने से सर्दी-जुकाम, वायरल संक्रमण, भोजन का स्वाद न लगना, मतली आने जैसी परेशानियां हो सकती हैं। इसके साथ ही बुखार भी आ सकता है। 

आंखों की रोशनी कम होना

विटामिन सी का मुख्य काम आंखों की कोशिकाओं को स्वस्थ रखना है। एक शोध में यह पाया गया है कि आंखों से संबंधित परेशानियां जैसे- कम दिखाई देना या मोतियाबिंद के लक्षण महसूस होने लगे तो ये विटामिन सी की कमी के कारण हो सकते हैं। हालांकि इससे संबंधित किसी प्रमाणिक तथ्य की जानकारी नहीं है। इसलिए जब कभी ये परेशानियां हो तो चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही विटामिन सी का सेवन करना चाहिए[4]।

विटामिन सी की कमी से होने वाली बीमारियां

शरीर में विटामिन सी की अधिक कमी होने पर इससे संबंधित लक्षण एक महीने के अंदर दिखाई देने लगते हैं, जो निम्न हो सकते हैंः-

मसूड़ों में सूजन और खून आना

मसूड़ों में सूजन और खून आने लगे तो यह विटामिन सी की कमी के लक्षण हो सकते हैं।

त्वचा पर लाल चकत्ता (रैशेज) होना

यह विटामिन सी की कमी के प्रमुख लक्षणों में से एक है। अगर शरीर पर लाल चकत्ता होने लगे तो समझ जाना चाहिए कि विटामिन सी कमी हो रही है।

दांतों का कमजोर होना

आपके दांत बिना किसी कारण से कमजोर होने लगे तो समझ जाएं कि विटामिन सी की कमी के कारण भी ऐसा हो सकता है।

कोलेजन संश्लेषण खराब होना

जब शरीर की कोलेजन संशलेषण प्रक्रिया में खराबी आ जाए तो यह विटामिन सी की कमी का लक्षण हो सकता है।

शारीरिक ताकत में कमी आना

विटामिन सी की कमी के कारण शारीरिक शक्ति में कमी आ सकती है। ऐसा होना पर आपको डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए। इसी तरह पेरिफोलिकुलर हेमरेज और शरीर के टिशू का कमजोर होना भी विटामिन सी की कमी के लक्षणों में आता हैं। विटामिन सी की कमी के लक्षणों को शुरुआती अवस्था में पहचान लिया जाए तो उसकी रोकथाम कर शरीर को स्वस्थ बनाया जा सकता है।

अब आपको विटामिन सी की कमी के कारण, उसके लक्षण और होने वाली बीमारी के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी है। इसलिए नियमित तौर पर फलों और सेवन करें ताकि विटामिन सी आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में मौजूद रहे। यह ध्यान रखें कि अगर आप विटामिन सी के सप्लीमेंट्स का सेवन करना चाहते हैं तो सेवन से पहले चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

(डॉ. ललित कनोडिया, जनरल फिजिशियन ने इस लेख की समीक्षा की है।)

संदर्भः

1.Pullar JM, Carr AC, Vissers MCM. The Roles of Vitamin C in Skin Health. Nutrients. 2017 Aug 12;9(8). pii: E866.

2.Lykkesfeldt J, Michels AJ, Frei B. Vitamin C. Adv Nutr. 2014 Jan 1;5(1):16-8.

3.Nutritive Value of Indian Foods-2012 & Indian Food Compositon Tables-2017, ICMR-National Institute of Nutrition,Hyderabad.

4.Making Sense Of Vitamins And Minerals. A Harvard Medical School Special Health Report.

 

Facebook Comments

Related Articles