Home  »  1mg NewsHindi   »   कॉफ़ी पीने से और बढ़ सकती है अल्जाइमर की बीमारी : रिसर्च

कॉफ़ी पीने से और बढ़ सकती है अल्जाइमर की बीमारी : रिसर्च

कॉफ़ी पीने से और बढ़ सकती है अल्जाइमर की बीमारी : रिसर्च

चाय या कॉफ़ी पीना हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का एक हिस्सा बन चुका है। अधिकांश लोगों के दिन की शुरुआत ही कॉफ़ी के साथ होती है। इसके अलावा ऑफिस में काम करते समय या देर रात तक काम करने वाले लोग कॉफ़ी का सेवन ज्यादा करते हैं। लोगों का मानना है कि कॉफ़ी पीने से उनकी थकान मिट जाती है और काम करने की उर्जा मिलती है। कॉफ़ी के फायदों से तो आप सभी भलीभांति परिचित हैं लेकिन हाल ही में हुए एक रिसर्च में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

रिसर्च के अनुसार लम्बे समय तक कॉफ़ी पीने से अल्जाइमर से पीड़ित मरीजों की मुश्किलें और बढ़ जाती हैं। यहां तक की कॉफ़ी पीने से सामान्य लोगों में भी अल्जाइमर के लक्षण बढ़ने का खतरा रहता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अल्जाइमर एक मानसिक बीमारी है जिसमें मरीज की सोचने समझने की क्षमता कमजोर होने लगती है और धीरे धीरे उनकी याददाश्त भी कमजोर होती जाती है। भूलने की इस बीमारी को नर्व्स सिस्टम डिफेक्ट की श्रेणी में भी रखा जाता है।

अल्जाइमर में एंग्जायटी, डिप्रेशन, स्ट्रेस और मतिभ्रम जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं और यह समस्या उम्रदराज लोगों को ज्यादा होती है। कुछ समय पहले हुए रिसर्च में यह बताया गया था कि डिमेंशिया को रोकने के लिए कॉफ़ी या कैफीन युक्त पेय का सेवन करना फायदेमंद होता है। लेकिन इस बात के कोई प्रमाण नहीं थे कि एक बार अल्जाइमर के लक्षण होने के बाद अगर कैफीन का सेवन किया जाए तो इससे कोई नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं या नहीं।

इस विषय पर जांच करने के लिए स्पेन के ऑटोनोमस यूनिवर्सिटी ऑफ बर्सिलोना और स्वीडन के कैरोलिन्स्का इंस्टिट्यूट के अनुसंधानकर्ताओं की टीम ने मिलकर चूहों पर इसका अध्ययन किया। रिसर्च के अनुसार कैफीन के सेवन से स्वस्थ चूहों के व्यवहार में बदलाव पाया गया वहीं जो चूहे पहले से अल्जाइमर से पीड़ित थे उनके लक्षण और ज्यादा गंभीर हो गये।

शोध के अनुसार कैफीन के सेवन से सामान्य चूहों में भी एंग्जायटी और मतिभ्रम जैसे लक्षण नजर आने लगे वहीं अल्जाइमर वाले चूहों में नियोफोबिया जैसे गंभीर लक्षण विकसित हो गये। जिससे यह पता चलता है कि अधिक मात्रा में कॉफ़ी पीने से या कैफीन का सेवन करने से सामान्य लोगों को भी अल्जाइमर या डिमेंशिया का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए आप भी ज़रुरत से ज्यादा कॉफ़ी या कैफीन युक्त पेय का सेवन ना करें। अगर आप अल्जाइमर से पीड़ित हैं तो कॉफ़ी से परहेज करें।

साभार : PTI

स्ट्रेस या डिप्रेशन से हैं परेशान! अब मानसिक शांति के लिए 1mg से आकर्षक दामों पर खरीदें मेंटल वेलनेस प्रोडक्ट. यहां क्लिक करें 

 

Facebook Comments

Related Articles