Home  »  Hindi   »   रूसी (डैंड्रफ) होने के कारण और उपचार

रूसी (डैंड्रफ) होने के कारण और उपचार

home remedies of dandruff in hindi

रूसी बालों के लिए दुश्मन जैसा काम करती है, क्योंकि इससे न सिर्फ बाल झड़ते हैं बल्कि बालों का आकर्षण भी खो जाता है ! असल में रूसी सिर में या बालों में सफेद रंग की सूखी या चिपचिपी पपड़ीदार मृत त्वचा की तरह होती है जो झड़कर कंधे या कपड़े पर गिरती है। रूसी (डैंड्रफ) सेबोरिक डर्मेटाइटिस होती है जिसके कारण स्कैल्प या सिर की त्वचा पर पपड़ी जैसी त्वचा बनने लगती है।

रूसी होने के कारण

आम तौर पर लोगों की ये मान्यता होती है कि रूखी त्वचा (ड्राई स्किन) में रूसी होने की संभावना ज्यादा होती है, लेकिन डॉ. साक्षी श्रीवास्तव, डर्माटोलॉजिस्ट का कहना है कि रूसी होना रूखी या तैलिय त्वचा पर निर्भर नहीं करता है बल्कि जब सिर के त्वचा की मृत कोशिकाएं बढ़ जाती है तब वह रूसी में परिवर्तित हो जाती हैं। इसके साथ बहुत सारे कारण होते हैं, जिनके बारे में हम आगे चर्चा करेंगे-

– रोज तेल लगाने से रूसी कम नहीं होती बल्कि बढ़ जाती है, इसलिए रूसी होने पर तेल न लगायें।

– बालों की सफाई रोजाना नहीं करने से स्कैल्प में मृत कोशिकाएं, धूल, प्रदूषण के कारण गंदगी जमने लगती है जिससे रूसी और फंगल इंफेक्शन होने का खतरा होता है। इसलिए हमेशा बालों को साफ रखें।

– हेयर कलर का इस्तेमाल करने से अक्सर स्किन एलर्जी होती है और उसके कारण बाद में रूसी भी हो जाती है इसलिए हेयर कलर का इस्तेमाल करने से पहले इसकी जांच कर लें कि ये आपकी त्वचा के लिए सही है कि नहीं।

– यहां तक कि आप रूसी के लिए जो एंटी डैंड्रफ शैंपू का इस्तेमाल करते हैं वह रूसी को कम करने के जगह पर बढ़ा भी सकते हैं। इसलिए रूसी होने पर शैंपू का चयन करने के पहले डॉक्टर की सलाह ले लें।

– किसी-किसी हेयर ट्रीटमेंट से भी एलर्जी के रूप में रूसी हो जाती है। क्योंकि ये त्वचा के प्रकृति के अनुकूल नहीं होता है।

– मैलेसेजिया स्कैल्प में पाया जाने वाला एक तरह का फंगस होता है, पर मुश्किल की बात ये है कि इसकी मात्रा बढ़ जाने से रूसी होने की संभावना बढ़ जाती है [2]

बालों को झड़ने और सफ़ेद होने से रोकें. हेयर केयर प्रोडक्ट खरीदने के लिए अभी क्लिक करें.

रूसी हटाने के घरेलू उपचार

बालों में रूसी (डैंड्रफ) होना जितनी आम समस्या है उतना ही मुश्किल है इससे राहत पाना। लेकिन सही तरह से बालों की देखभाल करने से इसको समय रहते नियंत्रण में किया जा सकता है। आम तौर पर लोग रूसी कम करने के लिए सबसे पहले घरेलू उपचार ही करते हैं, जैसे ऐलोवेरा, नींबू, बेकिंग सोडा आदि । लेकिन कई डर्माटोलॉजिस्ट से बात करने पर यही बात सामने आई है कि इन घरेलू उपचारों का कोई वैज्ञानिक या प्रामाणिक तथ्य अभी तक सामने नहीं आया है, बस इन प्राकृतिक चीजों के गुण कुछ हद तक रूसी को कम करने में सहायता करते हैं। जैसे-

ऐलोवेरा

 घृतकुमारी या ऐलोवेरा का इस्तेमाल त्वचा और सौन्दर्य संबंधी कई समस्याओं के लिए इस्तेमाल किया जाता है। ठीक उसी तरह इसका एन्टीबैक्टिरीयल और एन्टीफंगल गुण रूसी को भी कम करने में सहायता करते हैं। रूसी के लिए ऐलोवेरा जेल को स्कैल्प में लगाया जाता है। और फिर सूखने के बाद पानी से धो दिया जाता है [1]। इससे रूसी का अाना कम हो जाता है।

नींबू

रूसी के लिए नींबू का इस्तेमाल तो दादी-नानी के जमाने से किया जा रहा है। रूसी का आना कम करने के लिए स्कैल्प में नींबू का रस लगाया जाता है। और फिर सूखने के बाद धो दिया जाता है। क्योंकि लोगों का मानना है कि नींबू का एन्टीफंगल गुण स्कैल्प में जो कवक या फंगस बन जाते हैं उसको कम करने में मदद करता है। लेकिन अभी तक रिसर्च में ऐसा कोई वैज्ञानिक प्रमाण सामने नहीं आया है। 

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा का भी एन्टीफंगल गुण रूसी को कम करने में मदद करता है। इसके लिए बालों को गीला करके बेकिंग सोडा को बाल और स्कैल्प में लगाया जाता है फिर धो लिया जाता है [2]।

नीम

नीम के पत्ते त्वचा संबंधी कई समस्याओं के लिए घरेलू उपचार के रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं। ठीक उसी तरह रूसी से लड़ने के लिए नीम के पत्ते का पेस्ट बनाकर स्कैल्प पर लगाने से रूसी (डैंड्रफ) को कम किया जा सकता है। इसका एन्टीबैक्टिरीयल और एन्टीफंगल गुण रूसी को कम करने में सहायता करते हैं [3]।

अगर इन छोटे-मोटे घरेलू उपचारों से रूसी कम नहीं हो रही है तो बिना देर किये डर्माटोलॉजिस्ट से सलाह लें।

(इस लेख की समीक्षा डॉ. शिल्पा चुग गर्चा, फिजिशियन ने की है।)

संदर्भ

1-Hashemi SA, Madani SA, Abediankenari S. The Review on Properties of Aloe Vera
in Healing of Cutaneous Wounds. Biomed Res Int. 2015;2015:714216.

2-Letscher-Bru V, Obszynski CM, et al. Antifungal activity of sodium bicarbonate against fungal agents causing superficial infections. Mycopathologia. 2013 Feb;175(1-2):153-8.

3-Subapriya R, Nagini S. Medicinal properties of neem leaves: a review. Curr Med
Chem Anticancer Agents. 2005 Mar;5(2):149-6. Review. PubMed PMID: 15777222.

Facebook Comments

Related Articles