Categories: घरेलू नुस्खे

आंखों के संक्रमण (इंफेक्शन) के लक्षण, कारण और घरेलू उपचार : Home Remedies for Eye Infection

आँखों का संक्रमण या आई इंफेक्शन आँखों में होने वाली सबसे आम समस्याओं में से एक होता है। यह संक्रमण जीवाणु (बैक्टिरीया), विषाणु (वायरस), कवक (फंगल) या अन्य किसी भी प्रकार से हो सकता है। इस बीमारी के होने के लिए कोई खास उम्र नहीं होती और यह एक साथ दोनों आँखें को भी प्रभावित कर सकता है। इसके साथ ही यह आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हो सकता है।

Contents

आंखों का इंफेक्शन क्या होता है? (What is Eye Infection?)

आंखों में इंफेक्शन होने से आँख में सूजन होना, आँख लाल होने, सूजन जैसी समस्याएं होती है। संक्रमण आँख के किसी विशेष भाग में भी होता है इनमें मुख्य रूप से आँख की बाहरी पारदर्शी सतह (Cornea) और बाहरी आँख व पलकों के नीचे की नम झिल्ली (Conjunctiva) आदि में होता है।

आंख में इंफेक्शन होने के लक्षण  (Symptoms of Eye Infection)

आंख में इंफेक्शन होने पर लाल या सूजन होने के अलावा और भी लक्षण होते हैं-

  • आँखों में लाल होने एवं सूजन के साथ दर्द होना।
  • पलकों को छूने पर दर्द महसूस होना।
  • आँख से पीले या हरे रंग का या रंगहीन पदार्थ आना।
  • आँखों की पलकों के पास पपड़ी जमना खासकर सुबह के समय।
  • आँखों से कीचड़ आना।
  • दृष्टि का धुंधला होना।
  • आँखों से लगातार पानी बहना।
  • जलन होना।

-प्रकाश के प्रति असहनशीलता या तेज रोशनी में आँखों में दर्द होना।

-पलकों के पीछे या पलकों के बालों में गांठ बनना।

आंख में संक्रमण से बचने के उपाय (Prevention Tips for Eye Infection)

आंख में संक्रमण न हो इससे बचने के लिए इन बातों का ध्यान रखना चाहिए-

  • अपने हाथों को अच्छी प्रकार बार-बार धोते रहें।
  • अपने तौलिए, रूमाल और आई ड्रॉप किसी के भी साथ शेयर न करें क्योंकि इससे दूसरे व्यक्ति को भी संक्रमण हो सकता है।
  • आँखों को तेज धूप व धूल भरे वातावरण से बचा कर रखें।
  • आँखों को हाथों से न रगड़े और गन्दे हाथों को आँखों पर न लगाए।
  • आँखों को किसी भी प्रकार के उत्तेजक पदार्थ के सम्पर्क में न आने दें जैसे धुआँ या केमिकल आदि की तेज गन्ध।
  • बाहर जाते वक्त आँखों पर काला चश्मा पहन कर रखें।
  • कान्टेक्ट लेन्स का प्रयोग न करें।

जीवनशैली और आहार में बदलाव लाने पर भी आँखों में संक्रमण होने से बचाया जा सकता है-

  • स्वस्थ आँखों के लिए भरपूर मात्रा में फल एवं सब्जियों का सेवन करें, खासकर मौसमी फल एवं सब्जियां खाएं।
  • ऐसा आहार जिसमें वसा एवं शुगर की मात्रा ज्यादा हो, वह आँखों के लिए हानिकारक हो सकता है, अत: ऐसे खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन न करें।
  • भोजन में जरूरी वसा या फैट को शामिल करें जैसे ओमेगा-3 फैटी एसिड। ओमेगा-3 फैटी एसिड आँखों के स्वास्थ्य रहने के लिए जरूरी होता है। यह अलसी के बीज, अखरोट, मूंगफली एवं मछली में पाया जाता है।

  • अत्यधिक नमक का सेवन आँखों के लिए हानिकारक होता है इसलिए भोजन में कम नमक का ही इस्तेमाल करें।
  • आँखों को हमेशा स्वच्छ हाथों से ही साफ करें तथा गन्दे हाथों से आँखें को नहीं रगड़ना चाहिए इससे संक्रमण होने का खतरा रहता है।
  • तेज प्रकाश एवं धूल भरे वातावरण में जाने से पहले हमेशा आँखों पर हाई क्वालिटी का चश्मा लगा कर जाए।
  • आँवला, सन्तरा, मौसमी आदि विटामिन-सी से युक्त  फलों का सेवन अधिक करें। यह स्वस्थ आँखों के लिए आवश्यक तत्व है।
  • बाहर से आने के बाद तथा सोने से पहले आँखों को अच्छी प्रकार ठण्डे पानी से धोएं।
  • अधिक देर तक लगातार कम्प्यूटर पर बैठना या किताब पढ़ना भी आँखों के लिए हानिकारक हो सकता है, अत: समय के बीच-बीच में आँखों को आराम देना चाहिए।
  • आँखों के इंफेक्शन के लिए घरेलू इलाज (Home Remedies for Eye Infection)

आम तौर पर आँखों के संक्रमण से निजात पाने के लिए सबसे पहले घरेलू नुस्ख़ों को ही अपनाया जाता है। यहां हम पतंजली के विशेषज्ञों द्वारा पारित कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे जिनके सेवन से आई इंफेक्शन के परेशानी से राहत पाया जा सकता है-

शहद और गुलाब जल आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Honey and Rose water Remedy Benefit for Eye Infection in Hindi)

आँखों में संक्रमण होने पर शहद और गुलाबजल को मिलाकर आँखों में लगाने से इंफेक्शन की परेशानी से जल्दी राहत मिलती है।

और पढ़ेकदम्ब के फायदे आँखों के लिए

सेब का सिरका आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Apple Cider Vinegar Beneficial for Eye Infection in Hindi)

सेब का सिरका बैक्टिरीयल इंफेक्शन को दूर करने में प्रभावी होता है। इसमें मैलिक एसिड होता है जो बैक्टिरीयल इंफेक्शन के खिलाफ लड़ने में मदद करता है। इसके लिए एक कप पानी में एक चम्मच सिरका मिलाएं और रूई के गोले की मदद से अपनी आँखों को साफ करें।

और पढें: जानें परवल के फायदे आँखों के लिये

तुलसी आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Tulsi Beneficial for Eye Infection in Hindi)

तुलसी संक्रमण को दूर करने के लिए औषधि के रूप में काम करती है। एक कप पानी में दो से तीन तुलसी की पत्तियों का रस निचोड़ लें और उस पानी से आँखों को धोएं।

और पढ़े- जानें तुलसी सूजन में कैसे काम करती है

आंवला आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Amla Beneficial for Eye Infection in Hindi)

आँवला आँखों के लिए वरदान स्वरूप है, इसके सेवन से देखने की शक्ति बढ़ती है और संक्रमण से भी राहत मिलती है। एक कप आँवले के रस में दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार पीने से परिणाम अच्छा होता है।

और पढ़े- जानें कैसे आंवला आँखों की बीमारियों में काम करता है

सौंफ आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Fennel Seed Beneficial for Eye Infection in Hindi)

50 ग्राम सौंफ को लगभग एक गिलास पानी में उबाल लें। उबलने के बाद इसे ठंडा होने दे और दिन में कम से कम दो बार इस पानी से आँखों को धोएं।

और पढ़ेंअभिष्यन्द में कलम्बी के फायदे

धनिया आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Coriander Seed Beneficial for Eye Infection in Hindi)

धनिया की सूखी पत्तियों को पानी में उबाल लें और ठंडा होने दें। ठण्डा होने के बाद इस पानी से अपनी आँखों को दिन में दो से तीन बार धोएं। इससे जलन और सूजन दूर होती है।

और पढ़े-धनिया के अनजाने फायदे

हल्दी आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Coriander Seed Beneficial for Eye Infection in Hindi)

गर्म पानी में हल्दी मिलाकर रूई से आँखों को पोछना चाहिए। हल्दी एंटी बैक्टिरीयल (anti-bacterial) गुणों से भरपूर होती है और आँखों के संक्रमण को दूर करती है।

और पढ़े: आँख के दर्द में खेसारी दाल के फायदे

आलू के टुकड़े संक्रमण की परेशानी करे कम (Potato Slice Beneficial for Eye Infection in Hindi)

आलू के पतले-पतले टुकड़े काट कर रात में सोने से पहले 15 मिनट तक अपनी आँखों के ऊपर लगा कर रखें।

और पढ़े- आलू के चमत्कारी फायदों के बारे में जानें

पालक और गाजर का रस आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Spinach and Carrot Juice Beneficial for Eye Infection in Hindi)

चार से पाँच पालक के पत्ते और दो गाजर लेकर पीसकर रस निकाल लें। अब इस रस को पानी के साथ मिलाकर प्रतिदिन पिएं, ऐसा करने से आँख का संक्रमण कम होने लगता है।

गुलाबजल आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Rose Water Beneficial for Eye Infection in Hindi)

आँखों में गुलाबजल डालें। इसके लिए दो-दो बूंद गुलाबजल दोनों आँखों में दिन में दो या तीन बार डालें। इससे आँखों में होने वाली जलन और लालिमा से राहत मिलती है। इसके लिए दो ग्रीन टी बैग को गर्म पानी में कुछ सेकण्ड तक भिगोए रखे, अब बैग को पानी में से निकाल लें और दोनों को यानी टी बैग को और टी को फ्रिज में ठण्डा होने के लिए रख दें। इसके बाद ठण्डे ग्रीन टी से आँखों  को साफ करें और टी बैग को अपनी दोनों आँखों पर 1015 मिनट के लिए रख कर छोड़ दें। संक्रमण कम न हो जाने पर इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार करें।

और पढ़ेजटामांसी के फायदे आँखों के लिए

डिस्टिल्ड पानी आँखों के संक्रमण से राहत दिलाने में फायदेमंद (Distiiled Water Beneficial for Eye Infection in Hindi)

एक कप आसुत जल (distilled water) में एक चम्मच नमक मिलाएं और इसे तब तक उबालें जब तक नमक पानी में पूरी तरह से घुल न जाए। अब इसे थोड़ी देर तक ठंडा होने दें और अपनी आँखों पर छींटे मारें। दिन में दो से तीन बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

और पढ़े- जानें नमक के अनजाने फायदे

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (When to See a Doctor?)

आँखें में होने वाली किसी भी समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। यदि आई ड्रॉप्स या घरेलु उपचार करने के बाद भी आँखों से दर्द, लालिमा एवं सूजन जैसे लक्षण न जाए तो तुरन्त ही डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए क्योंकि आँखों के संक्रमण के कारण व्यक्ति के देखने की क्षमता पर प्रभाव पड़ता है जिससे व्यक्ति किसी भी कार्य को करने में असमर्थ हो जाता है। अत: आँख या आँख के आस-पास तेजी से सूजन विकसित हो रही है तो बिना देरी किए डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

और पढ़ेंड्राई आई सिंड्रोम में एलोवेरा जेल फायदेमंद

आचार्य श्री बालकृष्ण

आचार्य बालकृष्ण, स्वामी रामदेव जी के साथी और पतंजलि योगपीठ और दिव्य योग मंदिर (ट्रस्ट) के एक संस्थापक स्तंभ है। उन्होंने प्राचीन संतों की आध्यात्मिक परंपरा को ऊँचा किया है। आचार्य बालकृष्ण जी एक प्रसिद्ध विद्वान और एक महान गुरु है, जिनके मार्गदर्शन और नेतृत्व में आयुर्वेदिक उपचार और अनुसंधान ने नए आयामों को छूआ है।

Share
Published by
आचार्य श्री बालकृष्ण

Recent Posts

गले की खराश और दर्द से राहत पाने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मौसम बदलने पर अक्सर देखा जाता है कि कई लोगों के गले में खराश की समस्या हो जाती है. हालाँकि…

9 months ago

कोरोना से ठीक होने के बाद होने वाली समस्याएं और उनसे बचाव के उपाय

अभी भी पूरा विश्व कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह उबर नहीं पाया है. कुछ महीनों के अंतराल पर…

10 months ago

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज (Home Remedies for Dengue Fever)

डेंगू एक गंभीर बीमारी है, जो एडीस एजिप्टी (Aedes egypti) नामक प्रजाति के मच्छरों से फैलता है। इसके कारण हर…

11 months ago

वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याएं और इनसे बचने के घरेलू उपाय

वायु प्रदूषण का स्तर दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है और सर्दियों के मौसम में इसका प्रभाव हमें साफ़ महसूस…

11 months ago

Todari: तोदरी के हैं ढेर सारे फायदे- Acharya Balkrishan Ji (Patanjali)

तोदरी का परिचय (Introduction of Todari) आयुर्वेद में तोदरी का इस्तेमाल बहुत तरह के औषधी बनाने के लिए किया जाता…

2 years ago

Pudina : पुदीना के फायदे, उपयोग और औषधीय गुण | Benefits of Pudina

पुदीना का परिचय (Introduction of Pudina) पुदीना (Pudina) सबसे ज्यादा अपने अनोखे स्वाद के लिए ही जाना जाता है। पुदीने…

2 years ago