ऑथर डीटेल्स
लेखक
पीएचडी (फार्माकोलॉजी), पीजीडीप्रा
समीक्षक
एमडी (फार्माकोलॉजी), एमबीबीएस
लास्ट अपडेटेड
24 जन 2024 | 05:24 पीएम (इस्ट)

We provide you with authentic, trustworthy and relevant information

Want to know more

Have issue with the content?

Report Problem

विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट


Product introduction

विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट, एंटीरेट्रोवाइरल दवाओं का मि​श्रण है.. यह एच.आई.वी. (ह्यूमन इम्यूनोडेफिशिएंसी वायरस) इंफेक्शन के इलाज के लिए दिया जाता है. यह एचआईवी के खिलाफ लड़ने के लिए इम्युनिटी को बढ़ाता है ताकि एड्स (एक्वायर्ड इम्यूनोडेफिशिएंसी सिंड्रोम) का प्रबंधन या इलाज हो सके.

विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट शरीर में एचआईवी की वृद्धि को सीमित करता है और एचआईवी से संबंधित जटिलताओं का जोखिम कम करके प्रभावित व्यक्ति के जीवनकाल में बढ़ोत्तरी करता है. बेहतर असर के लिए, इस दवा को खाली पेट लिया जाना चाहिए. इन दवाओं को नियमित रूप से एक ही समय पर लेने से इनकी प्रभावशीलता बढ़ जाती है. इस दवा की खुराक छूटनी नहीं चाहिए, क्योंकि यह आपकी रिकवरी को प्रभावित कर सकती है. जब तक आपका डॉक्टर आपको इसे रोकने की सलाह नहीं देता है, तब तक इलाज का कोर्स पूरा करना आवश्यक है.

Common side effects of this medicine include headache, tiredness, trouble sleeping, nausea, diarrhea, dryness in the mouth, fever, and rash. ये साइड इफेक्ट आमतौर पर अस्थायी होते हैं, लेकिन अगर वे रहते हैं या गंभीर हो जाते हैं तो अपने डॉक्टर को सूचित करें. इस दवा से आपको चक्कर या बेहोशी महसूस हो सकती है, इसलिए ड्राइविंग न करने की सलाह दी जाती है. इसके अलावा, शराब के सेवन से बचें क्योंकि इससे दुष्प्रभाव की तीव्रता बढ़ सकती है.

अगर आप गर्भवती हैं, स्तनपान करवा रही हैं, या आप किसी स्वास्थ्य स्थिति से पीड़ित हैं, तो इलाज शुरू करने से आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए. आपका डॉक्टर आपके खून की मात्रा और अन्य शारीरिक कार्यों की जांच करने के लिए नियमित ब्लड टेस्ट का सुझाव दे सकता है. अगर आप एचआईवी पॉजिटिव हैं, तो आपको स्तनपान नहीं करवाना चाहिए या रेज़र या टूथब्रश जैसे व्यक्तिगत सामान साझा नहीं करने चाहिए. सेक्स के दौरान एच.आई.वी. के फैलाव की रोकथाम के लिए सुरक्षित सेक्स के तरीकों के बारे में जानने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें.

विरोलैन्स टैबलेट के मुख्य इस्तेमाल

विरोलैन्स टैबलेट के लाभ

एचआईवी संक्रमण में

विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट एचआईवी वायरस को आपके शरीर में गुणित होने से रोकता है. यह संक्रमण को नियंत्रित करने और आपके इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करता है. यह आपमें नए इन्फेक्शन होने जैसी जटिलताओं की संभावनाओं को कम करता है और आपके जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाता है.

यह एच.आई.वी. या एड्स का इलाज नहीं है और न ही इसे किसी जोखिम से एक्सीडेंटल एक्सपोजर होने के बाद एच.आई.वी. की रोकथाम के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए. यह आवश्यक है कि आप इस दवा को डॉक्टर की पर्ची में लिखे अनुसार लेते हैं, इसके बाद डॉक्टर द्वारा सुझाई गई खुराक लेते हैं. सभी खुराकें सही मात्रा में और सही समय पर लेने से आपकी कॉम्बिनेशन दवाओं की प्रभाविकता में काफी बढ़ोत्तरी होती है और आपके एचआईवी संक्रमण के एंटी-रिट्रोवाइरल दवाओं के प्रति प्रतिरोधी हो जाने की संभावनाएं कम हो जाती हैं. हालांकि, इस दवा का सेवन आपको अन्य लोगों को एचआईवी संक्रमित करने से नहीं रोक सकता.

विरोलैन्स टैबलेट के साइड इफेक्ट

इस दवा से होने वाले अधिकांश साइड इफेक्ट में डॉक्टर की सलाह लेने की ज़रूरत नहीं पड़ती है और नियमित रूप से दवा का सेवन करने से साइट इफेक्ट अपने आप समाप्त हो जाते हैं. अगर साइड इफ़ेक्ट बने रहते हैं या लक्षण बिगड़ने लगते हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें

विरोलैन्स के सामान्य साइड इफेक्ट

  • सिर दर्द
  • अनिद्रा (नींद में कठिनाई)
  • मिचली आना
  • डायरिया (दस्त)
  • रैश
  • उल्टी
  • हाइपरसेंसिटिविटी

विरोलैन्स टैबलेट का इस्तेमाल कैसे करें

इस दवा की खुराक और अनुपान की अवधि के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें. इसे साबुत निगल लें. इसे चबाएं, कुचलें या तोड़ें नहीं. विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट को खाली पेट लेना चाहिए.

विरोलैन्स टैबलेट किस प्रकार काम करता है

विरोलैन्स 150 mg/30 mg/200 एमजी टैबलेट तीन एंटीवायरल दवाओं का एक मिश्रण हैःलैमिवडाइन, स्टैवुडाइन और नेविरैपाइन. वे एच.आई.वी. (वायरस) के गुणन की रोकथाम करके काम करते हैं, जिससे आपके शरीर में वायरस की मात्रा कम हो जाती है.

सुरक्षा संबंधी सलाह

अल्कोहल
सावधान
विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट के साथ शराब का सेवन करते समय सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
गर्भावस्था
डॉक्टर की सलाह लें
गर्भावस्था के दौरान विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट का इस्तेमाल करना असुरक्षित हो सकता है.. हालांकि, इंसानों से जुड़े शोध सीमित हैं लेकिन जानवरों पर किए शोधों से पता चलता है कि ये विकसित हो रहे शिशु पर हानिकारक प्रभाव डालता है. आपके डॉक्टर पहले इससे होने वाले लाभ और संभावित जोखिमों की तुलना करेंगें और उसके बाद ही इसे लेने की सलाह देंगें. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
Breast feeding
डॉक्टर की सलाह पर सुरक्षित
स्तनपान के दौरान विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट का इस्तेमाल संभवतः सुरक्षित है. मानव पर किए गए सीमित शोध से यह पता चलता है कि दवा से बच्चे को कोई गंभीर जोखिम नहीं पहुंचता है.
ड्राइविंग
असुरक्षित
विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट के इस्तेमाल से ऐसे साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जिससे आपकी गाड़ी चलाने की क्षमता प्रभावित हो सकती है.
आपको विरोलैन्स 150 mg/30 mg/200 एमजी टैबलेट लेने के दौरान थका महसूस हो सकती है और इससे आपकी गाड़ी चलाने की क्षमता पर असर पड़ सकता है.
किडनी
सावधान
किडनी की बीमारियों से पीड़ित मरीजों में विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट का इस्तेमाल सावधानी के साथ किया जाना चाहिए. विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट की खुराक में बदलाव की आवश्यकता हो सकती है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
लिवर
डॉक्टर की सलाह पर सुरक्षित
लिवर की बीमारी वाले मरीजों के लिए विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट का इस्तेमाल संभवतः सुरक्षित है. ऐसी कम ही जानकारी उपलब्ध है जिससे पता चलता है कि इस तरह के मरीजों के लिए विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट की खुराक कम या ज्यादा करने की ज़रूरत नहीं है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
अगर आप में विरोलैन्स 150 mg/30 mg/200 एमजी टैबलेट लेने के दौरान पीलिया के लक्षण या निशान दिखें तो अपने डॉक्टर को जानकारी दें. आपको इस दवा को लेना बंद करना पड़ सकता है.

अगर आप विरोलैन्स टैबलेट लेना भूल जाएं तो?

अगर आप विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट निर्धारित समय पर लेना भूल गए हैं तो जितनी जल्दी हो सके इसे ले लें. हालांकि, अगर अगली खुराक का समय हो गया है तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें और नियमित समय पर अगली खुराक लें. खुराक को डबल न करें.

All substitutes

यह जानकारी सिर्फ सूचना के उद्देश्य से है. कृपया कोई भी दवा लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श लें.
विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट
₹119.9/Tablet
एम्टरि 150mg/30mg/200mg टैबलेट
एमक्योर फार्मास्युटिकल्स लि
₹15.37/tablet
87% cheaper

ख़ास टिप्स

  • विरोलैन्स 150 mg/30 mg/200 एमजी टैबलेट तीन दवाओं से मिलकर बना है जो एचआईवी के संक्रमण की गति को धीमा या बंद कर देता है.
  • साइड इफेक्ट को कम करने के लिए, इसे खाली पेट लें, अच्छा होगा कि सोते समय.
  • खुराक छोड़ने से इलाज विफलता का खतरा बढ़ जाता है. सुनिश्चित करें कि आप सही समय पर अपनी सभी खुराक लेते हैं.
  • विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट के इस्तेमाल से चक्कर आने या नींद आने जैसी परेशानी हो सकती है.. जब तक आप यह नहीं जानते कि यह आपको कैसे प्रभावित करता है, तब तक ड्राइव न करें या एकाग्रता वाला कोई काम न करें.
  • विरोलैन्स 150 mg/30 mg/200 एमजी टैबलेट के कारण जन्मजात बीमारियां हो सकती हैं. विरोलैन्स 150 mg/30 mg/200 एमजी टैबलेट लेने के दौरान और इसे बंद करने के 12 हफ़्तों बाद तक प्रभावी गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करें.
  • इसके कारण आपकी हड्डियां कमजोर हो सकती हैं. नियमित रूप से व्यायाम करें और अपने डॉक्टर द्वारा सुझाए गए कैल्शियम और विटामिन डी सप्लीमेंट लें.
  • आपका डॉक्टर आपके किडनी और लिवर फंक्शन की निमित रूप से निगरानी कर सकता है. अगर आपको पेट दर्द, भूख न लगना, पेशाब का रंग गहरा होना या आंख या त्वचा का पीला होना जैसे लक्षण हैं तो अपने डॉक्टर को बताएं.
  • अपने डॉक्टर से सलाह लिए बिना विरोलैन्स 150 एमजी/30 एमजी/200 एमजी टैबलेट लेना बंद न करें.

फैक्ट बॉक्स

लत लगने की संभावना
नहीं
चिकित्सीय वर्ग
ANTI INFECTIVES

यूजर का फीडबैक


जानकारी साझा करना चाहते हैं?

Disclaimer:

Tata 1mg's sole intention is to ensure that its consumers get information that is expert-reviewed, accurate and trustworthy. यहां उपलब्ध जानकारी को चिकित्सकीय परामर्श के विकल्प के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए. यहां दी गई जानकारी केवल आपकी जानकारी के उद्देश्य से है. This may not cover everything about particular health conditions, lab tests, medicines, all possible side effects, drug interactions, warnings, alerts, etc. Please consult your doctor and discuss all your queries related to any disease or medicine. हम डॉक्टर-पेशेंट रिलेशनशिप को सपोर्ट नहीं करना चाहते हैं.

रिफरेंस

  1. Lamivudine. South Ruislip, Middlesex: Aurobindo Pharma - Milpharm Ltd.; 2012 [revised 24 Jun. 2018]. (online) Available from:External Link
  2. Stavudine. Princeton, New Jersey: Bristol-Myers Squibb Company. [Accessed 09 Apr. 2019] (online) Available from:External Link

Marketer details

Name: सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड
Address: Plot no 107/108,Namli block , Ranipool, East Sikkim 737135
मूल देश: भारत

The list of available options shown with the same composition has been prepared upon the advice of registered medical practitioners, pharmacists affiliated with TATA 1MG. TATA 1MG does not promote any pharmaceutical product of any particular company, and all recommendations are based on the medical opinion, advisories from specialist medical and pharmaceutical professionals.

बंद हो चुके
We do not facilitate sale of this product at present--test
Available options
Available option
Same salt composition:Lamivudine (150mg), Stavudine (30mg), Nevirapine (200mg)
https://onemg.gumlet.io/epf1dtoymcv3sbkzuspl.png
Same salt composition
https://onemg.gumlet.io/qkdhgo7ram1mle08cya9.png
Verified by doctors
https://onemg.gumlet.io/ehvn8wef9oaoewteak8d.png
Popularly bought
https://onemg.gumlet.io/xnv1s7snefeql2hkalfr.png
Trusted quality
Why buy these from 1mg?question-mark

INDIA’S LARGEST HEALTHCARE PLATFORM

260m+
Visitors
31m+
Orders Delivered
1800+
Cities
Get the link to download App
Reliable

All products displayed on Tata 1mg are procured from verified and licensed pharmacies. All labs listed on the platform are accredited

Secure

Tata 1mg uses Secure Sockets Layer (SSL) 128-bit encryption and is Payment Card Industry Data Security Standard (PCI DSS) compliant

Affordable

Find affordable medicine substitutes, save up to 50% on health products, up to 80% off on lab tests and free doctor consultations.

LegitScript approved
India's only LegitScript and ISO/ IEC 27001 certified online healthcare platform

Know more about Tata 1mgdownArrow

Access medical and health information

Tata 1mg provides you with medical information which is curated, written and verified by experts, accurate and trustworthy. Our experts create high-quality content about medicines, diseases, lab investigations, Over-The-Counter (OTC) health products, Ayurvedic herbs/ingredients, and alternative remedies.

Order medicines online

Get free medicine home delivery in over 1800 cities across India. You can also order Ayurvedic, Homeopathic and other Over-The-Counter (OTC) health products. Your safety is our top priority. All products displayed on Tata 1mg are procured from verified and licensed pharmacies.

Book lab tests

Book any lab tests and preventive health packages from certified labs and get tested from the comfort of your home. Enjoy free home sample collection, view reports online and consult a doctor online for free.

Consult a doctor online

Got a health query? Consult doctors online from the comfort of your home for free. Chat privately with our registered medical specialists to connect directly with verified doctors. Your privacy is guaranteed.