टैम्लिन-डी टैबलेट

डॉक्टर की पर्ची ज़रूरी है
स्टोरेज के निर्देश
30°c . से कम तापमान पर स्टोर करें

परिचय

टैम्लिन-डी टैबलेट दो दवाओं से मिलकर बना है जो पुरुषों में बढ़े हुए प्रोस्टेट ग्रंथि के इलाज के लिए अलग-अलग तरीकों से काम करती है . यह पेशाब करने में कठिनाई या अधिक बार शौचालय जाने की आवश्यकता जैसे लक्षणों से राहत दिलाने में मदद करता है. यह प्रोस्टेट कैंसर की रोकथाम के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है.

टैम्लिन-डी टैबलेट को भोजन के साथ या बिना लिया जा सकता है लेकिन इसे प्रत्येक दिन एक ही समय पर लिया जाना चाहिए. आपका डॉक्टर आपके लिए सबसे उपयुक्त खुराक निर्धारित करेगा. अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए तथा आपके लक्षणों का प्रभावी तरीके से इलाज करने के लिए, आपको कोई भी खुराक छोड़नी नहीं चाहिए, भले ही आपको बेहतर महसूस हो रहा हो.

इस दवा के सबसे आम साइड इफेक्ट में नपुंसकता, सेक्स की इच्छा में कमी , स्तन में दर्द , और वीर्य स्खलन से जुड़ी समस्या शामिल हैं. अगर यह साइड इफेक्ट आपको परेशान कर रहे हैं या ठीक नहीं हो रहे, तो अपने डॉक्टर से सलाह करें. आप चक्कर आना या बेहोशी भी महसूस कर सकते हैं. जब आप पहली बार यह दवा लेना शुरू करते हैं तो ये जोखिम अधिक होते हैं. याद रखें, आपके डॉक्टर ने आपको यह दवा इसलिए दी है, क्योंकि इसके फायदे, साइड इफेक्ट के जोखिमों से अधिक हैं.

टैम्लिन-डी टैबलेट महिलाओं या बच्चों द्वारा नहीं लिया जाना चाहिए. इसे लेने से पहले, अगर आपको लो ब्लड प्रेशर, या लिवर या किडनी की कोई बीमारी है तो अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं. यह दवा उपयुक्त नहीं हो सकती है. यह अन्य दवाओं को भी प्रभावित कर सकता है, या उनसे प्रभावित हो सकता है. इसलिए आपके द्वारा ली जाने वाली सभी दवाओं के बारे में डॉक्टर को बताएं. यदि आपका पार्टनर गर्भवती है या हो सकता है, तो आपको सेक्स के दौरान कंडोम पहनने की सलाह दी जा सकती है. आपका डॉक्टर आपको अक्सर अपना ब्लड प्रेशर चेक करवाने की सलाह दे सकता है. शराब पीने से बचें क्योंकि इस दवा से अत्यधिक चक्कर आ सकते हैं.

टैम्लिन-डी टैबलेट के मुख्य इस्तेमाल

टैम्लिन-डी टैबलेट के लाभ

In Treatment of Benign prostatic hyperplasia

जब आपका प्रोस्टेट ग्लैंड बड़ा हो जाता है तो इससे पेशाब की समस्याएं हो सकती हैं जैसे पेशाब करने में समस्या और बार-बार तुरंत पेशाब जाना पड़ सकता है. इससे पेशाब का प्रवाह धीमा भी हो सकता है. अगर इलाज नहीं किया जाता है, तो आपका मूत्र प्रवाह अवरुद्ध होने का खतरा हो सकता है. टैमलीन-डी टैबलेट इन दो दवाओं ड्युटास्टेराइड और टैमोसुलोसिन से मिलकर बना है. ड्युटास्टेराइड प्रोस्टेट ग्रंथि के बढ़ने के लिए ज़िम्मेदार हार्मोन को बनने से रोकता है और इस तरह यह प्रोस्टेट के साइज़ को कम करता है. टैमोसुलोसिन मूत्राशय और प्रोस्टेट ग्रंथि की मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है. साथ में वे तेजी से लक्षणों को दूर कर सकते हैं जिससे आपकी पेशाब की परेशानी से राहत मिलती है.. . अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए इस दवा को डॉक्टर के बताए अनुसार ही लें.

टैम्लिन-डी टैबलेट के साइड इफेक्ट

इस दवा से होने वाले अधिकांश साइड इफेक्ट में डॉक्टर की सलाह लेने की ज़रूरत नहीं पड़ती है और नियमित रूप से दवा का सेवन करने से साइट इफेक्ट अपने आप समाप्त हो जाते हैं. अगर साइड इफ़ेक्ट बने रहते हैं या लक्षण बिगड़ने लगते हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें

टैम्लिन-डी के सामान्य साइड इफेक्ट

  • नपुंसकता
  • सेक्स की इच्छा में कमी
  • स्तन में दर्द
  • वीर्य स्खलन से जुड़ी समस्या
  • चक्कर आना

टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल कैसे करें

इस दवा की खुराक और अनुपान की अवधि के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें. इसे साबुत निगल लें. इसे चबाएं, कुचलें या तोड़ें नहीं. टैम्लिन-डी टैबलेट को खाने के साथ या भूखे पेट भी ले सकते हैं, लेकिन बेहतर यह होगा कि इसे एक तय समय पर लिया जाए.

टैम्लिन-डी टैबलेट किस प्रकार काम करता है

टैम्लिन-डी टैबलेट दो दवाओं का मिश्रण हैः टैमोसुलोसिन और ड्युटास्टेराइड, जो बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया के लक्षणों से राहत देता है. टैम्सुलोसिन एक अल्फा ब्लॉकर है. यह ब्लैडर एग्जिट और प्रोस्टेट ग्लैंड के आसपास की मांसपेशियों को आराम देकर काम करता है, ताकि मूत्र आसानी से पास हो सके. ड्युटास्टेराइड एक 5-अल्फा-रिडक्टेज़ इनहिबिटर है जो हार्मोन के स्तर को कम करके, प्रोस्टेट ग्रंथि को कम करने में मदद करता है और प्रोस्टेट ग्रंथि को बढ़ाने में मदद करता है.

सुरक्षा संबंधी सलाह

अल्कोहल
असुरक्षित
शराब के साथ टैमलीन-डी टैबलेट लेने से अत्यधिक नींद आ सकती है.
गर्भावस्था
डॉक्टर की सलाह लें
गर्भावस्था के दौरान टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से संबंधित जानकारी उपलब्ध नहीं है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
Breast feeding
डॉक्टर की सलाह लें
स्तनपान के दौरान टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से संबंधित जानकारी उपलब्ध नहीं है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
ड्राइविंग
असुरक्षित
टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्‍तेमाल से सजगता में कमी आ सकती है, आपकी दृष्टि प्रभावित हो सकती है या आपको नींद और चक्कर आने की शिकायत हो सकती है.. इन लक्षणों के महसूस होने पर वाहन न चलाएं.
किडनी
डॉक्टर की सलाह लें
ऐसे मरीज जिन्हें किडनी से जुड़ी कोई बीमारी है, उनके टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी बहुत कम है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
लिवर
सावधान
लिवर की बीमारियों से पीड़ित मरीजों में टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल सावधानी से किया जाना चाहिए. टैम्लिन-डी टैबलेट की खुराक में बदलाव की आवश्यकता हो सकती है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
लिवर की गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दी जाती है.

अगर आप टैम्लिन-डी टैबलेट लेना भूल जाएं तो?

अगर आप टैम्लिन-डी टैबलेट निर्धारित समय पर लेना भूल गए हैं तो जितनी जल्दी हो सके इसे ले लें. हालांकि, अगर अगली खुराक का समय हो गया है तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें और नियमित समय पर अगली खुराक लें. खुराक को डबल न करें.

All substitutes

यह जानकारी सिर्फ सूचना के उद्देश्य से है. कृपया कोई भी दवा लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श लें.
टैम्लिन-डी टैबलेट
₹9.7/Tablet
उरिनाइस डी 0.4mg/0.5mg टैबलेट
वोटरी लैबोरेट्रीज आई लिमिटेड
₹11/tablet
13% costlier
बेज़िप डी टैबलेट
एमक्योर फार्मास्युटिकल्स लि
₹11.14/tablet
15% costlier
₹11.5/tablet
19% costlier
फ्लोकाइंड डी 0.4mg/0.5mg टैबलेट
मैनकाइंड फार्मा लिमिटेड
₹12.09/tablet
25% costlier
नैबीफ्लो डी 0.4mg/0.5mg टैबलेट
नाबारून लाइफ साइंसेज
₹12.5/tablet
29% costlier

ख़ास टिप्स

  • आपको बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया (बीपीएच) के लक्षणों से राहत देने के लिए टैम्लिन-डी टैबलेट लेने की सलाह दी गई है.
  • हर दिन एक ही भोजन के लगभग 1 मिनट बाद लें.
  • टैम्लिन-डी टैबलेट से चक्कर या नज़र का धुंधलापन हो सकता है. जब तक आप यह नहीं जानते कि यह आपको कैसे प्रभावित करता है, तब तक गाड़ी चलाने या एकाग्रता की आवश्यकता के लिए कुछ न करें.
  • चक्कर आने या बेहोश होकर गिर जाने की संभावना को कम करने के लिए, अगर आप बैठे हैं या लेटे हैं तो धीरे-धीरे उठें.
  • अगर मोतियाबिंद या ग्लूकोमा के लिए आपकी कोई सर्जरी होने वाली है तो टैम्लिन-डी टैबलेट के बारे में अपने आँख के डॉक्टर को सूचित करें.
  • इससे इरेक्शन (स्तंभन) होने या इसे बनाए रखने में कठिनाई (नपुंसकता) आ सकती है, सेक्स की इच्छा में कमी आ सकती है, और वीर्य की मात्रा या शुक्राणुओं की संख्या में कमी जैसे स्खलन विकार हो सकते हैं.
  • टैम्लिन-डी टैबलेट की आखिरी खुराक लेने के 6 महीने बाद तक रक्त दान न करें.

फैक्ट बॉक्स

लत लगने की संभावना
नहीं
चिकित्सीय वर्ग
मूत्रविज्ञान

यूजर का फीडबैक


अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्र. क्या टैम्लिन-डी टैबलेट प्रभावी है?

टैम्लिन-डी टैबलेट को डॉक्टर द्वारा निर्धारित खुराक और अवधि में लेने से यह प्रभावकारी होता है. अगर आप अपनी स्थिति में सुधार देखते हैं तो भी इसे लेना बंद न करें. अगर आप टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल करना बंद करते हैं, तो लक्षण वापस आ सकते हैं या बिगड़ सकते हैं.

प्र. क्या टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से चक्कर आना हो सकता है?

हां, टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल चक्कर आना का कारण बन सकता है. टैम्लिन-डी टैबलेट में टैमोसुलोसिन और ड्युटास्टेराइड का मिश्रण होता है. टैमोसुलोसिन से अचानक खड़े होने या बैठने पर ब्लड प्रेशर कम (ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन) हो सकता है. ब्लड प्रेशर में होने वाली इस अचानक गिरावट से चक्कर आना, सिर चकराने, बेहोशी और चक्कर आने जैसी समस्याएं आ सकती हैं. अगर आपको चक्कर या हल्के महसूस होता है, तो ड्राइव न करें या किसी भी मशीन का उपयोग न करें. कुछ समय बाद आराम करना बेहतर होता है और बेहतर महसूस होने के बाद फिर से शुरू करना बेहतर होता है.

प्र. टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से संबंधित सावधानियां क्या हैं?

टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल 18 वर्ष की आयु से कम आयु के पुरुषों के लिए हानिकारक माना जाता है क्योंकि यह पुरुष प्रजनन ट्रैक्ट के सामान्य विकास पर प्रभाव डाल सकता है. इस दवा का उपयोग इस दवा के किसी भी घटक और महिलाओं में जो गर्भवती हो या बच्चे की क्षमता के लिए जानी गई एलर्जी वाले रोगियों के लिए भी हानिकारक माना जाता है. इसके साथ-साथ, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि गर्भवती महिलाओं को टैम्लिन-डी टैबलेट को संभालना भी नहीं चाहिए क्योंकि यह दवा त्वचा के माध्यम से अवशोषित हो सकती है और भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती है.

प्र. क्या टैम्लिन-डी टैबलेट सुरक्षित है?

डॉक्टर द्वारा निर्धारित खुराक और अवधि में टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल सुरक्षित है. इसे डॉक्टर द्वारा बताई गई सलाह के अनुसार ही लें और कोई खुराक न छोड़ें. अपने डॉक्टर के निर्देशों का ध्यान से पालन करें और अगर आपको कोई भी दुष्प्रभाव होता है तो डॉक्टर को बताएं.

प्र. क्या मैं इस दवा की निर्धारित खुराक से ज्यादा खुराक ले सकता हूँ?

नहीं, टैम्लिन-डी टैबलेट को सुझाई गई खुराक में ही लिया जाना चाहिए. टैम्लिन-डी टैबलेट के ओवरडोज़ से साइड इफेक्ट का जोखिम बढ़ सकता है. डॉक्टर द्वारा निर्धारित खुराक और अवधि के अनुसार हमेशा अपनी दवाओं का सेवन करें.

प्र. टैम्लिन-डी टैबलेट के लिए स्टोरेज की स्थिति क्या है?

इस दवा को कंटेनर में रखें या उसके पैक को कठोर रूप से बंद कर दिया गया है. पैक या लेबल पर उल्लिखित निर्देशों के अनुसार इसे स्टोर करें. इस्तेमाल न किए गए दवा का निपटान. यह सुनिश्चित करें कि पालतू जानवरों, बच्चों और अन्य लोगों द्वारा इसका सेवन न किया जाए.

प्र. क्या टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से स्खलन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं?

रेट्रोग्रेड एजेक्युलेशन (सीमेन शरीर से बहार निकलने के बजाय ब्लैडर में जाता है) और एजेक्युलेशन विफलता (एजेक्युलेशन की अनुपस्थिति या कम मात्रा) टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से जुड़ी आम समस्याएं हैं. लेकिन यह हानिरहित और आमतौर पर देखा जाता है जब दवाओं का उपयोग उच्च खुराकों में किया जाता है.

प्र. क्या टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से प्रायपिज़्म (लैंगिक गतिविधि से संबंधित लगातार दर्दनाक पेनाइल इरेक्शन) हो सकता है?

हां, टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से प्रायपिज़्म (शिश्न के इरेक्शन के समय दर्द होना) हो सकता है. यह एक गंभीर लेकिन दुर्लभ साइड इफेक्ट है जो इस दवा के उपयोग से संबंधित है. हालांकि, कुछ मामलों में, अगर तुरंत इलाज न किया जाए, तो इससे स्थायी नपुंसकता हो सकता है.

प्र. क्या टैम्लिन-डी टैबलेट के इस्तेमाल से मेरी मोतियाबिंद सर्जरी पर कोई प्रभाव पड़ सकता है?

टैम्लिन-डी टैबलेट का इस्तेमाल फ्लॉपी आई सिंड्रोम का कारण बन सकता है. इसमें, आईरिस के मांसपेशियों में फ्लॉपी हो जाते हैं और मोतियाबिंद की सर्जरी के दौरान पपिल अनपेक्षित रूप से बनते हैं. इसलिए, जब आंख सर्जन को वास्तव में एक डाइलेटेड पुपिल की आवश्यकता होती है, तो पुपल अनपेक्षित रूप से बनाता है. यह सर्जरी के क्षेत्र को प्रतिबंधित करता है जिसके कारण सर्जिकल परिणाम प्रभावित हो सकते हैं. अगर आप इस दवा का सेवन कर रहे हैं या अगर आपने पिछले 9 महीनों में इस दवा का उपयोग कर लिया है तो अपने आई डॉक्टर (नेत्रचिकित्सक) को सूचित करें.

प्र. दवा लेने के अलावा मुझे अपने प्रोस्टेट के लक्षणों को कम करने के लिए क्या करना चाहिए?

आसान जीवनशैली में बदलाव आपको अपने प्रोस्टेट लक्षणों को बेहतर तरीके से मैनेज करने में मदद कर सकते हैं. जब आप पहले उत्तेजना प्राप्त करते हैं तो पेशाब करने की कोशिश करें. हालांकि, पेशाब करते समय तनाव न डालने या पुश न करने की देखभाल करें. बेडटाइम या बाहर जाने से कुछ घंटे पहले शराब पीने से बचें (विशेष रूप से शराब, कैफीन). आपको दवाओं से भी बचना चाहिए जो ठंडे और खांसी के लिए कुछ अधिक मूत्रमार्ग के लक्षणों जैसे मूत्रमार्ग के लक्षणों से बचना चाहिए.

संबंधित प्रोडक्ट

संबंधित आयुर्वेदिक सामग्रियां

जानकारी साझा करना चाहते हैं?

Disclaimer:

Tata 1mg's sole intention is to ensure that its consumers get information that is expert-reviewed, accurate and trustworthy. यहां उपलब्ध जानकारी को चिकित्सकीय परामर्श के विकल्प के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए. यहां दिए गए विवरण सिर्फ़ आपकी जानकारी के लिए हैं. यह संभव है कि इसमें दवाओं के दुष्प्रभाव, पारस्परिक प्रभाव और उनसे जुड़ी सावधानियां एवं चेतावनियों की सारी जानकारी सम्मिलित ना हो. किसी भी दवा या बीमारी से जुड़े अपने सभी सवालों के लिए डॉक्टर से संपर्क करें. हमारा उद्देश्य डॉक्टर और मरीज के बीच के संबंध को मजबूत बनाना है, उसका विकल्प बनना नहीं.

रिफरेंस

  1. CiplaMed. Tamsulosin hydrochloride + Dutasteride [Accessed 25 Apr. 2019] (online) Available from:External Link

निर्माता/मार्केटर का एड्रेस

333 लेक साइड ड्राइव, फॉस्टर सिटी, सीए 94404
मूल देश: भारत

MRP
97
सभी कर शामिल
1 स्ट्रिप में 10 टेबलेट्स
बिक चुके हैं
मुझे सूचित करें
Available substitutes
Available substitutes
Contains the same salt composition as
टैम्लिन-डी टैबलेट
Verified by experts
Top & trusted brands

INDIA’S LARGEST HEALTHCARE PLATFORM

160M+
Visitors
27M+
Orders Delivered
1800+
Cities
Get the link to download App
Reliable

All products displayed on Tata 1mg are procured from verified and licensed pharmacies. All labs listed on the platform are accredited

Secure

Tata 1mg uses Secure Sockets Layer (SSL) 128-bit encryption and is Payment Card Industry Data Security Standard (PCI DSS) compliant

Affordable

Find affordable medicine substitutes, save up to 50% on health products, up to 80% off on lab tests and free doctor consultations.

India's only LegitScript and ISO/IEC 27001 certified online healthcare platform

Know More About Tata 1mgdownArrow

Access medical and health information

Tata 1mg provides you with medical information which is curated, written and verified by experts, accurate and trustworthy. Our experts create high-quality content about medicines, diseases, lab investigations, Over-The-Counter (OTC) health products, Ayurvedic herbs/ingredients, and alternative remedies.

Order medicines online

Get free medicine home delivery in over 1800 cities across India. You can also order Ayurvedic, Homeopathic and other Over-The-Counter (OTC) health products. Your safety is our top priority. All products displayed on Tata 1mg are procured from verified and licensed pharmacies.

Book lab tests

Book any lab tests and preventive health packages from certified labs and get tested from the comfort of your home. Enjoy free home sample collection, view reports online and consult a doctor online for free.

Consult a doctor online

Got a health query? Consult doctors online from the comfort of your home for free. Chat privately with our registered medical specialists to connect directly with verified doctors. Your privacy is guaranteed.