एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन

डॉक्टर की पर्ची ज़रूरी है
निर्माता/ मार्केटर
स्टोरेज के निर्देश
रेफ्रिजरेटर (2 - 8डिग्री सेल्सियस) में स्टोर करें. फ्रीज़ न करें.
arrow
arrow

Product introduction

एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन का इस्तेमाल टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस वाले लोगों में ब्लड शुगर के नियंत्रण में सुधार करने के लिए किया जाता है. यह फास्ट-एक्टिंग इंसुलिन का एक प्रकार है जो खाने के बाद ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है और डाइबिटीज की गंभीर परेशानियों के बढ़ने के खतरों में कमी लाता है.

एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन को आमतौर पर लंबे समय तक असर करने वाली या डायबिटीज की अन्य दवाओं के साथ दिया जाता है. आपका डॉक्टर या नर्स आपको त्वचा के नीचे इसे इंजेक्ट करने का सही तरीका सिखाएगा. . जब तक आपके डॉक्टर न कहें तब तक इसे लेना बंद न करें.. यह ट्रीटमेंट प्रोग्राम का केवल एक हिस्सा है जिसमें आपके डॉक्टर द्वारा बताई गई एक स्वस्थ डाइट, नियमित व्यायाम और वजन कम करना भी शामिल होना चाहिए.

अपने ब्लड शुगर के लेवल को नियमित रूप से चेक करें, परिणामों को ट्रैक करें और डॉक्टर के साथ उन्हें शेयर करें. आपके लिए दवा की सही खुराक का निर्धारण करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है.

The most common side effects of this medicine include hypoglycemia, allergic reactions, injection site reactions, lipodystrophy, itching, and rash. इन्हें रोकने के लिए, हमेशा दवा की सही खुराक का इंजेक्शन लगाना, नियमित भोजन करना (छोड़ना नहीं) और नियमित रूप से अपने ब्लड शुगर के स्तर की जांच करना जरूरी है.

जब आपका ब्लड शुगर का स्तर कम (हाइपोग्लाइसीमिया) हो तो इस दवा का इस्तेमाल न करें. अगर आपको कभी किडनी, लिवर या हार्ट की समस्या रही है, तो इलाज शुरू होने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं. गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए.

Uses of Apidra Solostar Solution for Injection

एपिड्रा सोलोस्टार सॉल्यूशन फॉर इंजेक्शन के लाभ

डायबिटीज में

एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन इंसुलिन का एक आधुनिक, तेजी से कार्य करने वाला रूप है जो ब्लड ग्लूकोज (शर्करा) के उच्च स्तरों को नियंत्रित करने में मदद करता है. यह शरीर में बनने वाले इंसुलिन को बदलता है. यह ग्लूकोज को आपकी कोशिकाओं में जाने में मदद करता है ताकि आपका शरीर ऊर्जा के लिए इसका उपयोग कर सके. यह इन्जेक्ट करने के 10-20 मिनट के भीतर आपके ब्लड ग्लूकोज के स्तरों को कम करना शुरू कर देता है और इसका प्रभाव3-5 घंटों तक रह सकता है. आपको सही तरीके से जानना होगा कि इस दवा को कैसे, कहां और कब इंजेक्ट किया जाए ताकि यह सबसे ज़्यादा प्रभावी हो.

ब्‍लड ग्लूकोज के लेवल को कम करने से डायबिटीज की किसी भी गंभीर समस्या जैसे किडनी को नुकसान, आंखों के नुकसान, तंत्रिका संबंधी समस्याएं और अंगों के नुकसान के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है.. उचित आहार और व्यायाम के साथ इस दवा का नियमित सेवन आपको स्वस्थ और सामान्य जीवन जीने में मदद करेगा.

Side effects of Apidra Solostar Solution for Injection

इस दवा से होने वाले अधिकांश साइड इफेक्ट में डॉक्टर की सलाह लेने की ज़रूरत नहीं पड़ती है और नियमित रूप से दवा का सेवन करने से साइट इफेक्ट अपने आप समाप्त हो जाते हैं. अगर साइड इफ़ेक्ट बने रहते हैं या लक्षण बिगड़ने लगते हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें

एपिड्रा सोलोस्टार के सामान्य साइड इफेक्ट

  • हाइपोग्लाइसीमिया (लो ब्लड ग्लूकोज लेवल)
  • नासोफैरिंजाइटिस (नाक और गले में सूजन)
  • श्वसन तंत्र के उपरी हिस्से में संक्रमण

How to use Apidra Solostar Solution for Injection

आपका डॉक्टर या नर्स आपको बताएंगे कि इस दवा का उपयोग कैसे करें.

How Apidra Solostar Solution for Injection works

एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन तेजी से काम करने वाला इंसुलिन है जो इंजेक्ट करने के बाद 10-20 मिनट के भीतर काम करना शुरू करता है. यह शरीर द्वारा उत्पादित इंसुलिन के समान काम करता है. इंसुलिन मांसपेशियों और वसा कोशिकाओं में ग्लूकोज के पुनर्वास की सुविधा प्रदान करता है और लिवर से ग्लूकोज के स्त्रवण को भी ब्लॉक करता है.

सुरक्षा संबंधी सलाह

अल्कोहल
असुरक्षित
एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन के साथ शराब पीना सुरक्षित नहीं है.
गर्भावस्था
डॉक्टर की सलाह पर सुरक्षित
एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन को आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान इस्तेमाल करने लिए सुरक्षि‍त माना जाता है. जानवरों पर किए अध्ययनों में पाया गया कि विकसित हो रहे शिशु पर इसका कम या कोई प्रभाव नहीं पड़ता है ; हालाँकि इससे संबंधित अध्ययन सीमित हैं.
स्तनपान
डॉक्टर की सलाह लें
स्तनपान के दौरान एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन के इस्तेमाल से संबंधित जानकारी उपलब्ध नहीं है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
ड्राइविंग
सावधान
यदि आपका रक्त शर्करा बहुत कम या बहुत अधिक है तो ड्राइव करने की आपकी क्षमता प्रभावित हो सकती है. इन लक्षणों के महसूस होने पर वाहन न चलाएं.
किडनी
सावधान
किडनी की बीमारियों से पीड़ित मरीजों में एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन का इस्तेमाल सावधानी के साथ किया जाना चाहिए. एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन की खुराक में बदलाव की आवश्यकता हो सकती है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
खुराक बदलने के लिए ब्लड ग्लूकोज लेवल की नियमित निगरानी की सलाह दी जाती है.
लिवर
सावधान
लिवर की बीमारियों से पीड़ित मरीजों में एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन का इस्तेमाल सावधानी से किया जाना चाहिए. एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन की खुराक में बदलाव की आवश्यकता हो सकती है. कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें.
नियमित रूप से बार-बार ब्लड शुगर के लेवल पर नजर रखने की सलाह दी जाती है.

What if you forget to take Apidra Solostar Solution for Injection

अगर आप से एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन की खुराक छूट जाती है, तो आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत अधिक हो सकता है (हाइपरग्लाइसेमिया). अपने ब्लड शुगर की जांच करें और फिर उसके अनुसार अगली खुराक लें.

सभी विकल्प

यह जानकारी सिर्फ सूचना के उद्देश्य से है. कृपया कोई भी दवा लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श लें.
इस दवा के लिए कोई विकल्प उपलब्ध नहीं है

ख़ास टिप्स

  • एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन ब्लड ग्लूकोज़ को नियंत्रित करने और लंबे समय से चल रहे जटिलताओं से बचने में मदद करती है.
  • आपको नियमित रूप से व्यायाम करना जारी रखना चाहिए, साथ ही स्वस्थ आहार लें और
  • भोजन से 1 मिनट पहले या भोजन शुरू करने के2 मिनट के भीतर इसे लें.
  • किसी स्थान पर ठोस गाँठ बनने से रोकने के लिए, इन्जेक्शन लगाने के स्थान को बदलते रहना चाहिए.
  • अन्य इंजेक्शन लगने के स्थानों की तुलना में पेट की त्वचा के नीचे इंजेक्शन लगाने पर तेजी से समावेश होता है.
  • अगर दवा अब स्पष्ट नहीं है और रंगहीन है या इसमें कण दिखाई दे रहे हैं तो इसका इस्तेमाल न करें.
  • हाइपोग्लाइसीमिया (लो ब्लड शुगर लेवल) एक सामान्य साइड इफेक्ट है.. नियमित रूप से अपना ब्लड शुगर लेवल चेक करते रहें. 
  • हमेशा अपने साथ शुगर वाले कुछ खाद्य पदार्थ या फ्रूट जूस रखें ताकि जब आपको हाइपोग्लाइसीमिया के लक्षण जैसे ठंडा पसीना, त्वचा का पीला होना, कंपन, कमजोरी और एंग्जायटी का अनुभव हो तो आप इन्हें ले सकें.
  • खुले वायल/कार्ट्रिज 1 सप्ताह तक कमरे के तापमान पर अच्छे रहते हैं, जबकि रेफ्रिजरेटर (2°C–3°C) में बंद वायल रखा जाना चाहिए.

फैक्ट बॉक्स

रासायनिक वर्ग
Insulin analogue
लत लगने की संभावना
नहीं
चिकित्सीय वर्ग
ANTI DIABETIC
एक्शन क्लास
Insulin analogues- rapid acting

अन्य दवाओं के साथ दुष्प्रभाव

एपिड्रा सोलोस्टार को निम्नलिखित में से किसी भी दवा के साथ लेने पर उनमें से किसी का प्रभाव बदल सकता है और इससे कुछ अनचाहे साइड इफेक्ट हो सकते हैं

यूजर का फीडबैक


अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

क्यू. मैं पियोग्लिटैज़ोन फॉर डायबिटीज ले रहा हूं. क्या मैं इसके साथ एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन ले सकता/सकती हूं?

अगर आप पायोग्लिटाजोन और एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन दोनों को लेने की योजना बना रहे हैं, तो आपको अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए. किसी अन्य दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें. डॉक्टर सुझाव देगा कि अगर आप pioglitazone के साथ सुरक्षित रूप से अपिड्रा ले सकते हैं और अगर आपको नियमित फॉलो-अप की आवश्यकता होगी. ऐसा इसलिए है क्योंकि पियोग्लिटाजोन आपके शरीर में फ्लूइड रिटेंशन का कारण बन सकता है, विशेष रूप से इंसुलिन के साथ मिलकर इस्तेमाल किया जाता है. आप एडेमा, हाथ और पैरों की सूजन, वजन लाभ, सांस रहितता आदि जैसे हृदय विफलता के लक्षण विकसित कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आपको पहले से ही हृदय विफलता है, तो इसे बढ़ाया जा सकता है.

क्यू. मैंने हाल ही में एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन का इस्तेमाल करना शुरू किया था और मुझे इसे बार-बार एक ही जगह पर इंजेक्ट न करने के लिए कहा गया था. क्यों?

यह सही है कि आपको फिर से एक ही जगह का उपयोग नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे त्वचा के तहत फैटी टिश्यू में बदलाव हो सकता है. इससे लिपोडिस्ट्रोफी या लिपोहाइपरट्रोफी हो सकती है. लिपोडिस्ट्रोफी का अर्थ है शरीर के वसा के वितरण में असामान्य परिवर्तन. इसमें लिपोहाइपरट्रॉफी (एडिपोज टिश्यू की मोटाई) और लाइपोएट्रोफी (एडिपोज टिश्यू की पतली) शामिल है, और इन्सुलिन को अवशोषित करने पर प्रभाव डाल सकता है. लिपोडिस्ट्रोफी के जोखिम को कम करने के लिए एक ही क्षेत्र के भीतर इन्सुलिन इन्जेक्शन या इन्फ्यूजन साइट को रोटेट करें.

प्र. अगर मैं दुर्घटनावश एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन को मांसपेशियों में इंजेक्ट करता/करती हूं तो क्या होगा?

एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन में तेज़ी से काम करने वाला इंसुलिन मौजूद है. एपिड्रा को मांसपेशियों में इंजेक्ट करने से इसका अवशोषण और तेज़ हो जाता है.. परिणामस्वरूप, हाइपोग्लाइसीमिया या ब्लड शुगर घटने के गंभीर एपिसोड होने की संभावना बढ़ जाती है. इसलिए, आपको त्वचा और वसा को थोड़ा सा पिंच करके त्वचा के नीचे इंसुलिन इंजेक्ट करना चाहिए.<br>

क्यू. मैं लंबे समय तक हाई ब्लड प्रेशर के लिए मेटोप्रोलोल ले रहा हूं. अगर मैंने अब ग्लूलिसिन शुरू किया है, तो क्या मुझे किसी भी चीज के बारे में सावधान रहना होगा?

हां, आपको सावधान रखना होगा क्योंकि कम ब्लड शुगर (हाइपोग्लाइसीमिया) जैसे हार्ट रेट बढ़ने के लक्षण आपके द्वारा नहीं देखा जा सकता है. अपने ब्लड शुगर पर नियमित जांच करें और अगर समस्या बनी रहती है, तो डॉक्टर से परामर्श लें.

प्र. क्या एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन शुरू होने के बाद बंद किया जा सकता है?

यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके पास टाइप आई डायबिटीज मेलिटस (शरीर इंसुलिन नहीं बनाता है) या टाइप II (शरीर इंसुलिन का जवाब नहीं देता है). टाइप I एक्सटर्नल सोर्स ऑफ इंसुलिन वाले रोगियों के लिए उपलब्ध एकमात्र उपचार है जिसे रोका नहीं जा सकता, क्योंकि आपका शरीर पर्याप्त इंसुलिन नहीं बनाता है. लेकिन टाइप II डायबिटीज मेलिटस वाले मरीजों के लिए, अगर आपके ब्लड शुगर के स्तर का व्यायाम, स्वस्थ आहार और अन्य डायबिटीज गोलियों के साथ अच्छी तरह नियंत्रित है, तो डॉक्टर अपिड्रा को रोक सकता है. हालांकि, डॉक्टर से परामर्श किए बिना इसे अपने आप पर लेना बंद न करें क्योंकि इससे आपकी स्थिति और भी खराब हो सकती है.

प्र. क्या एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन से हाइपोग्लाइसेमिया हो सकता है?

हां, एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन हाइपोग्लाइसेमिया (कम ब्लड शुगर लेवल) का कारण बन सकता है. हाइपोग्लाइसेमिया के लक्षणों में उबकाई, सिरदर्द, जलनशीलता, भूख, पसीना, चक्कर आना, तेज दिल की दर और चिंताजनक या आकर्षक महसूस होना शामिल है. यह अक्सर होता है कि अगर आप अपना खाना, शराब पीते हैं, अधिक व्यायाम करते हैं या इसके साथ अन्य एंटीडायबिटीज दवाओं को लेते हैं, तो इससे अधिक समय लगता है. इसलिए, ब्लड शुगर लेवल की नियमित निगरानी महत्वपूर्ण है. हमेशा आपके साथ कुछ सगरी कैंडी, ग्लूकोज, ग्लूकॉन-डी या फ्रूट जूस ले जाएं.

प्र. एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन का कौन सा वर्ग है?

एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन एंटीडायबेटिक दवाओं के क्लास से संबंधित है. यह इंसुलिन का एक मानव-निर्मित संस्करण है जिसे मधुमेह वयस्कों और 1 वर्ष या उससे अधिक आयु के बच्चों में निर्धारित किया जाता है. यह दवा ब्लड शुगर लेवल और ग्लायसेमिक कंट्रोल में सुधार लाने में मदद करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

संबंधित आयुर्वेदिक सामग्रियां

जानकारी साझा करना चाहते हैं?

Disclaimer:

टाटा 1mg's का एकमात्र उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि उसके उपभोक्ताओं को एक्सपर्ट द्वारा जांच की गई, सटीक और भरोसेमंद जानकारी मिले. यहां उपलब्ध जानकारी को चिकित्सकीय परामर्श के विकल्प के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए. यहां दिए गए विवरण सिर्फ़ आपकी जानकारी के लिए हैं. यह संभव है कि इसमें स्वास्थ्य संबधी किसी विशेष समस्या, लैब टेस्ट, दवाओं और उनके सभी संभावित दुष्प्रभावों, पारस्परिक प्रभाव और उनसे जुड़ी सावधानियां एवं चेतावनियों के बारे में सारी जानकारी सम्मिलित ना हो। किसी भी दवा या बीमारी से जुड़े अपने सभी सवालों के लिए डॉक्टर से संपर्क करें. हमारा उद्देश्य डॉक्टर और मरीज के बीच के संबंध को मजबूत बनाना है, उसका विकल्प बनना नहीं.

रिफरेंस

  1. Powers AC, D’Alessio D. Endocrine Pancreas and Pharmacotherapy of Diabetes Mellitus and Hypoglycemia. In: Brunton LL, Chabner BA, Knollmann BC, editors. Goodman & Gilman’s: The Pharmacological Basis of Therapeutics. 12th ed. New York, New York: McGraw-Hill Medical; 2011. p. 1251.
  2. Nolte MS. Pancreatic hormones and antidiabetic drugs. In: Katzung BG, Masters SB, Trevor AJ, editors. Basic and Clinical Pharmacology. 11th ed. New Delhi, India: Tata McGraw Hill Education Private Limited; 2009. pp. 733.
  3. Briggs GG, Freeman RK, editors. A Reference Guide to Fetal and Neonatal Risk: Drugs in Pregnancy and Lactation. 10th ed. Philadelphia, PA: Wolters Kluwer Health; 2015. pp. 721.
  4. Insulin glulisine. Bridgewater, New Jersey: Sanofi-Aventis U.S. LLC.; 2004 [revised Aug. 2008]. [Accessed 12 Mar. 2019] (online) Available from:External Link
  5. Apidra [Summary of Product Characteristics]. Frankfurt, Germany: Sanofi-Aventis Deutschland GmbH; 2009. [Accessed 08 Oct. 2021] (online) Available from:External Link
  6. Insulin glulisine [Product Monograph]. Quebec, Canada: Sanofi-Aventis Canada Inc.; 2017. [Accessed 08 Oct. 2021] (online) Available from:External Link
  7. Chaves RG, Lamounier JA. Breastfeeding and maternal medications. J Pediatr (Rio J). 2004;80(5 Suppl):S189-98. [Accessed 12 Mar. 2019] (online) Available from:External Link

निर्माता/मार्केटर का एड्रेस

सनोफी हाउस, सीटीएस नं..117-B, L&टी बिजनेस पार्क, साकी विहार रोड, पवई, मुंबई 400072
मूल देश: भारत
एक्सपायरी डेट: सितंबर, 2023

A लाइसेंस वेंडर पार्टनर आपकी सबसे नज़दीकी लोकेशन से एपिड्रा सोलोस्टार 100IU/एमएल इन्जेक्शन डिलीवर करेगा. जैसे ही फार्मेसी आपका ऑर्डर स्वीकार कर लेती है, फार्मेसी का विवरण आपके साथ शेयर किया जाएगा. आपके ऑर्डर की स्वीकृति आपके डॉक्टर की ℞ की वैधता और इस दवा की उपलब्धता पर आधारित है.

In case of any issues, contact us

Email ID: [email protected]
पता: 5th Floor Tower - B of the Presidency Building, 46/4 Mehrauli Gurgaon Road, Sector 14, Gurugram, Haryana-122001, India
801.996817% की छूट पाएं
588.06+ free shipping and 3% Extra NeuCoins with
केयर प्लान के सदस्यों को अतिरिक्त छूट, मुफ्त शिपिंग, मुफ्त स्वास्थ्य जांच, प्रीमियम डॉक्टर परामर्श और बहुत कुछ मिलता है.
सभी कर शामिल
This offer price is valid on orders above ₹1499. Apply coupon HEALTHALL on the cart. मैक्स. coupon discount is ₹240. T&C apply.
1 प्री-फिल्ड पेन में 3 एमएल
कार्ट में जोड़ें
कैश ऑन डिलीवरी उपलब्ध है
वापस नहीं लौटने योग्य नीति पढ़ें
Earliest delivery by 10pm, Tomorrow
इनको भेजा जा रहा हैः:
110020, New Delhi

अतिरिक्त ऑफर

Paytm Wallet: Pay with Paytm Wallet on Tata 1mg for ₹999 or more and get 5% cashback up to ₹75. ऑफ़र 5th फरवरी 2023 को समाप्त हो रहा है.
Show more show_more

INDIA’S LARGEST HEALTHCARE PLATFORM

260m+
Visitors
31m+
Orders Delivered
1800+
Cities
Get the link to download App
Reliable

All products displayed on Tata 1mg are procured from verified and licensed pharmacies. All labs listed on the platform are accredited

Secure

Tata 1mg uses Secure Sockets Layer (SSL) 128-bit encryption and is Payment Card Industry Data Security Standard (PCI DSS) compliant

Affordable

Find affordable medicine substitutes, save up to 50% on health products, up to 80% off on lab tests and free doctor consultations.

LegitScript approved
India's only LegitScript and ISO/ IEC 27001 certified online healthcare platform

Know more about Tata 1mgdownArrow

Access medical and health information

Tata 1mg provides you with medical information which is curated, written and verified by experts, accurate and trustworthy. Our experts create high-quality content about medicines, diseases, lab investigations, Over-The-Counter (OTC) health products, Ayurvedic herbs/ingredients, and alternative remedies.

Order medicines online

Get free medicine home delivery in over 1800 cities across India. You can also order Ayurvedic, Homeopathic and other Over-The-Counter (OTC) health products. Your safety is our top priority. All products displayed on Tata 1mg are procured from verified and licensed pharmacies.

Book lab tests

Book any lab tests and preventive health packages from certified labs and get tested from the comfort of your home. Enjoy free home sample collection, view reports online and consult a doctor online for free.

Consult a doctor online

Got a health query? Consult doctors online from the comfort of your home for free. Chat privately with our registered medical specialists to connect directly with verified doctors. Your privacy is guaranteed.