header-logo

AUTHENTIC, READABLE, TRUSTED, HOLISTIC INFORMATION IN AYURVEDA AND YOGA

AUTHENTIC, READABLE, TRUSTED, HOLISTIC INFORMATION IN AYURVEDA AND YOGA

अंजीर के फायदे, उपयोग और सेवन का तरीका (Anjeer ke Fayde, Upyog aur Sevan ka Tarika)

Contents

अंजीर का परिचय (Introduction of Anjeer)

आप काजू, किशमिश, बादाम जैसे ड्राई फ्रूट्स खाते हैं, क्योंकि आपको पता है कि इन ड्राई फ्रूट्स के अंदर शरीर को फायदा पहुंचाने वाले कई पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि इन्हीं फलों की तरह अंजीर (Anjeer dry fruit) भी एक बहुत ही फायदेमंद ड्राइ फ्रूट है। क्या आपको पता है कि अंजीर के सेवन से शरीर को अनेक फायदे होते हैं। आप अंजीर का प्रयोग कर शरीर को स्वस्थ बना सकते हैं, त्चचा या अग्नाशय (pancreas) संबंधी विकारों को ठीक कर सकते हैं। इतना ही नहीं, आप अंजीर का उपयोग कर कई रोगों का इलाज भी कर सकते हैं।

 

Anjeer ke fayde
Anjeer ke fayde

असल में अंजीर के इस्तेमाल के बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी होती है। इसलिए आज आपको अंजीर के सभी फायदे (Anjeer ke fayde) के बारे में बताते हैं, ताकि आप इसका पूरा-पूरा फायदा ले सकें।

अंजीर क्या है (What is Anjeer in Hindi) 

अंजीर एक सूखा फल है। यह दो प्रकार का होता है, जो ये हैंः-

  • एक- जिसकी खेती की जाती है। इस अंजीर के पत्ते व फल बड़े-बड़े होते हैं।
  • दूसरा- जंगली अंजीर। इसके फल और पत्ते खेती वाले अंजीर से छोटे होते हैं।

अन्य भाषाओं में अंजीर के नाम (Anjeer Called in Different Languages)

अंजीर को दुनिया भर में कई नामों से जाना जाता है, जो ये हैंः-

Anjeer in –

  • Name of Anjeer in Hindi (Anjeer in Hindi) – अंजीर
  • Name of Anjeer in English –  फीग (Fig), कॉमन फिग (Common fig), ब्राउन टर्की फिग (Brown turkey fig)
  • Name of Anjeer in Sanskrit – फल्गुजम्, अंजीरकम्, काकोदुम्बरिकाफलम्
  • Name of Anjeer in Urdu – अंजीर (Anjeer)
  • Name of Anjeer in Oriya -पुष्पोषुन्यो (Pushposhunyo)
  • Name of Anjeer in Konkani -पन्गारा (Pangara)
  • Name of Anjeer in Kannada -अंजीर (Anjeer), अंजूरा (Anjura)
  • Name of Anjeer in Gujarati -अंजीर (Anjeer)
  • Name of Anjeer in Tamil -सीमईयट्टी (Simaiyatti), सिमाअली (Simaali)
  • Name of Anjeer in Telugu -अंजुरा (Anjura), अंजठ (Anjath), मेदीपटु (Medipatu);
  • Name of Anjeer in Bengali -अंजीर (Anjeer);
  • Name of Anjeer in Punjabi – फेगेरी (Fegeri), फागु (Fag);
  • Name of Anjeer in Marathi -अंजीर (Anjeer);
  • Name of Anjeer in Malayalam -सीमायट्टी (Simayatti)
  • Name of Anjeer in Nepali -अंजीर (Anjeer), फालेदो (Faledo);
  • Name of Anjeer in Arabic -तेन (Tain), तीन (Teen);
  • Name of Anjeer in Persian -अंजीर (Anjir)
Anjeer Fruit
Anjeer Fruit

अंजीर के फायदे (Benefits of Anjeer in Hindi)

अंजीर के फल अत्यन्त पौष्टिक (Benefits of Figs in Hindi) होते हैं। इसका स्वाद खाने में मीठा होता है। अंजीर के इस्तेमाल, प्रयोग के तरीके, और विधियां ये हैः-

अंजीर का उपयोग पाचनतंत्र की समस्या में फायदेमंद (Benefits of Anjeer Fruit in Indigestion  Treatment in Hindi)

कई लोग पाचनतंत्र से संबंधित समस्या से परेशान रहते हैं। इससे आराम पाने के लिए अंजीर का सेवन करना फायदेमंद होता है। अपच (Indigestion) जैसी परेशानी से ग्रस्त लोग अंजीर को पाचक के रूप में प्रयोग कर लाभ उठा सकते हैं। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

एसिडिटी (पेट की जलन) में अंजीर के सेवन से लाभ (Benefits of Anjeer to Treat Acidity in Hindi)

प्रायः ऐसा देखा जाता है कि तीखा या मसालेदार खाना खाने के बाद शरीर में जलन होने लगती है, या एसिडिटी की समस्या हो जाती है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है, और आप परेशान रहते हैं, तो अंजीर फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए आप अंजीर के 1 या 2 सूखे फल को खांड़ (गुड़) में मिलाकर खाएं। इससे जलन (दाह) की परेशानी में आराम मिलता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

कब्ज की समस्या में अंजीर का सेवन (Anjeer Benefits in Fighting with Constipation in Hindi)

अनेक लोग कब्ज की समस्या से परेशान रहते हैं। यह एक ऐसी परेशानी है, जो कई गंभीर बीमारियों का कारण भी बन सकती है। इसके लिए ताजे अंजीर के 1-2 फलों को लगातार कुछ दिनों तक सेवन करें। इससे कब्ज में फायदा मिलता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

और पढ़ें – Home remedies for constipation

 

Anjeer benefits

 

अंजीर के फायदे से सिर दर्द से आराम (Benefit of Anjeer to Get Rid of Headache in Hindi)

अंजीर एक बहुगुणी फल है। यह सिर दर्द (headache) की परेशानी से राहत दिलाने में बहुत मदद पहुंचाता है। अगर कोई सिर दर्द की समस्या से पीड़ित है, तो उसे अंजीर के पेड़ की छाल को पीस लेना है, इसे अपने सिर पर लेप के रूप में लगाना है। इससे सिर दर्द से राहत मिलती है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

अग्नाशय संबंधी विकार (सूजन) में अंजीर से लाभ (Anjeer Fights with Pancreatitis Swelling in Hindi)

अगर कोई अग्नाश्य संबंधी विकार से पीड़ित है, तो उसे अंजीर के फल को भुनने के बाद उसे पीस लें। इसे लगाने से अग्नाशय संबंधी विकार या सुजाक में लाभ होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

अंजीर के गुण से खूनी बवासीर का इलाज (Anjeer Uses to Get Relief from Piles in Hindi)

बवासीर एक गंभीर रोग है। जिस किसी व्यक्ति को बवासीर होता है, उसे बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसे में दो सूखे अंजीर को शाम को पानी में भिगो दें। इसे सुबह खाएं। इसी प्रकार सुबह भिगोए हुए अंजीर का सेवन शाम को करें। इसका सेवन 8-10 दिन तक करने से खूनी बवासीर में फायदा होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

और पढ़ें – Home remedies for Piles treatment

 

पेचिश रोग में अंजीर का सेवन लाभदायक (Anjeer Benefits in Dysentery in Hindi)

अंजीर खाने के कई फायदों होते हैं। यह पेचिश में आराम पहुंचाता है। पेचिश से परेशान व्यक्ति को अंजीर के फल का सेवन करना चाहिए। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

आंतों की सूजन में अंजीर से लाभ (Anjeer Reduces Inflammation of the Intestine in Hindi)

कहते हैं कि अगर आंत स्वस्थ है, तो इससे कई रोगों से बचाव होता है। आंत से संबंधित विकारों से परेशान लोग अंजीर का प्रयोग कर सकते हैं। अंजीर (dried fig) आंत संबंधी कई विकारों को ठीक करने में बहुत मदद पहुंचाता है। इसका सेवन करने से आंतों की सूजन ठीक होती है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

मूत्र रोग में अंजीर का प्रयोग लाभदायक (Benefits of Anjeer in Urinary Problems in Hindi)

अंजीर का सेवन करने से मूत्र संबंधी रोग, जैसे- पेशाब में दर्द होना, चयापचयजन्य (मेटाबोलिक) रोग आदि में भी लाभ होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

अंजीर के प्रयोग से होती है शारीरिक कमजोरी दूर (Anjeer Helps to Fight Weakness in Hindi)

आपको शारीरिक कमजोरी (Body weakness) महसूस होती हो तो, आप अंजीर का इस्तेमाल कर सकते हैं। अंजीर शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। इसके लिए रोज 1 अंजीर का सेवन करना है। इससे शरीर शरीर स्वस्थ होता है। अंजीर के 1 या 2 सूखे फलों को रात भर पानी में रख दें। इसे सुबह खाएं। इससे शरीर में शक्ति मिलती है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

मुंह के रोगों में अंजीर के फायदे (Anjeer Benefits in Dealing with Oral Problems in Hindi)

अंजीर मुंह संबंधी कई रोगों को ठीक करने में मदद पहुंचाता है। मुंह से संबंधित बीमारियों को ठीक करने के लिए अंजीर के सूखे फल (dried figs) को पीस कर उसका काढ़ा बना लें। इससे गरारा करें। इससे मुंह के अंदर होने वाली फुन्सियां ठीक होती हैं। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

अंजीर के गुण से सांसों के रोग में फायदा (Anjeer Uses to Treats Respiratory Disorders in Hindi)

जो लोग सांसों से संबंधित समस्याओं से ग्रस्त रहते हैं, उन्हें अंजीर से फायदा मिल सकता है। ऐसे लोग अंजीर की मुलायम शाखाओं को तोड़कर काढ़ा बना लें। इसे 10 से 20 मिली मात्रा में पीने से सांसों से संबंधित रोगों में लाभ होता है।

अगर बच्चों को सांसों से संबंंधित परेशानी हैं, तो सूखे अंजीर फल को शक्कर, और सिरके में पीस लें। इसे बच्चों को खिलाएं। इससे बच्चों को सांसों से सम्बन्धित रोगों में राहत मिलती है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

दमा में फायदेमंद अंजीर का औषधीय गुण (Benefits of Anjeer in Asthma Treatment in Hindi)

भारत में कई लोग दमा की बीमारी से ग्रस्त हैं। वास्तव में यह एक गंभीर रोग है, जिससे मरीज हमेशा परेशान ही रहता है। अंजीर (dry figs) का सेवन करने से दमा पर नियंत्रण में मदद मिलती है। इसके लिए अंजीर और गोरख इमली चूर्ण को बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर रख लें। इसे 1-2 ग्राम मात्रा में सुबह सेवन करें। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

पुरानी खांसी में फायदेमंद अंजीर का औषधीय गुण (Anjeer Benefits in Chronic Cough in Hindi)

पुरानी खांसी की बीमारी में पके हुए अंजीर फल में मधु (Honey) मिलाकर खाएं। इससे पुरानी खांसी, और बलगम के साथ खून आने के रोग में लाभ होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

और पढ़ेः खांसी के लिए घरेलू नुस्खे

अंजीर का सेवन कर टीबी रोग में लाभ (Anjeer Uses in Fights with T.B Disease in Hindi)

टी.बी एक ऐसी बीमारी है, जो भारत में बड़ी बीमारी का रूप लेती जा रही है। इसकी रोकथाम के लिए सरकारों द्वारा कई स्तर पर कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। टीबी के रोगी रोज 1 अंजीर फल का सेवन करें। इससे उन्हें बहुत फायदा मिलेगा। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

कीड़े-मकौड़ों (कीट दंश) के काटने पर अंजीर का प्रयोग (Benefits of Anjeer for Insect Bite in Hindi)

अंजीर के दूध को कीड़े-मकौड़ों के काटने वाले स्थान पर लगाएं। इससे कीड़ों के काटने से होने वाला दर्द और जलन ठीक होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

सूजन की समस्या में अंजीर का प्रयोग (Anjeer Helps in Reducing Body Inflammation in Hindi)

शरीर के अन्य किसी अंग में सूजन हो गई हो, तो सूखे या हरे अंजीर को पीस लें। इसे जल में पका लें। जब यह गुनगुना हो जाए तो लेप करें। इससे सूजन ठीक हो जाती है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

Other benefits of Anjeer for women:

सफेद दाग में अंजीर से फायदा (Anjeer Benefits for Leukoderma in Hindi)

सफेद दाग, या सफेद कोढ़ त्‍वचा की एक बीमारी है। इसमें शरीर के अंगों पर सफेद दाग हो जाते हैं। इस बीमारी के कारण त्वचा में जलन होती है। कई लोगों को यह बीमारी हो जाती है, और लोग इससे बहुत परेशान रहते हैं। ऐसी स्थिति में मरीज अंजीर का फायदा ले सकते हैं। सफेद दाग या सफेद कोढ़ की शुरुआती अवस्था में अंजीर के पत्तों का रस लगाएं। इससे बहुत लाभ होता है। अंजीर की जड़ को पीसकर लगाने से सफेद दाग तथा दाद में लाभ होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

अंजीर का उपयोग कर एक्जिमा का इलाज (Anjeer Benefits for Eczema in Hindi)

एक्जिमा, त्वचा संबंधित एक ऐसी बीमारी है, जिसमें त्वचा में चकत्ते से आ जाते हैं, और खुजली भी होती है। यह रोग जल्दी ठीक भी नहीं होती। ऐसे में कोई अंजीर के पत्ते को पीसकर एक्जिमा वाले स्थान पर लगाना चाहिए। इससे एक्जिमा में फायदा होता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

और पढ़ें – Diet plan for Eczema

अंजीर का प्रयोग कर मस्से का इलाज (Benefits of Anjeer Fruit in Healing Warts in Hindi)

अंजीर के उपयोग से मस्से का उपचार भी किया जा सकता है। आपको अंजीर का कच्चा फल लेना है, और उसके दूध को मस्से पर लगाना है। इसमें फायदा होगा। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

फोड़े में अंजीर के फायदे (Anjeer Helps in Treating Abscess in Hindi)

किसी व्यक्ति के शरीर में कहीं फोड़ा होता है, तो उसे बहुत अधिक तकलीफ तो झेलनी पड़ती है। फोड़ा को पकने में बहुत अधिक समय लगने के कारण रोजाना के काम में भी हानि उठानी पड़ती है। ऐसे में अंजीर का लाभ ले सकते हैं। फोड़ों को जल्दी पकाने के लिए अंजीर को पीसकर लेप के रूप में लगाएं। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

पुराने जख्म की बदबू में अंजीर का प्रयोग  (Anjeer Benefits in Healing Chronic Wounds in Hindi)

घाव पुराना हो गया हो, और उससे बदबू आने लगी हो तो अंजीर का प्रयोग करना चाहिए। अंजीर के दूध को दुर्गन्ध युक्त घाव में लगाने से घाव से आने वाली बदबू खत्म हो जाती है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

 

ह्रदय रोग में अंजीर के सेवन से फायदा (Benefits of Anjeer in Heart Disease in Hindi)

ह्रदय रोग विश्व भर में एक बड़ी बीमारी का रूप लेती जा रही है। अंजीर फल का सेवन करने से ह्रदय रोग में फायदा मिलता है। [Go to – Full List of Benefits of Anjeer]

और पढ़ेंः हार्ट ब्लॉकेज खोलने के घरेलू उपाय

अंजीर के उपयोगी भाग (Useful Parts of Anjeer Fruit)

अंजीर का इस्तेमाल भिन्न-भिन्न तरह से किया जा सकता है, और अंजीर का सूखा फल (dry fig) आसानी से किसी भी ड्राई फ्रूट्स की दुकान पर मिल जाता है। आप अंजीर के पेड़ के निम्न भागों का प्रयोग कर सकते हैंः-

अंजीर का सेवन कैसे करें? (How to Use Anjeer in Hindi?)

आप अंजीर का सेवन इस तरह कर सकते हैंः-

  • अंजीर का काढ़ा – 10-20 मिली।
  • अंजीर फल- 1 से 2

अंजीर का पूरा फायदा (benefits of Anjeer) लेने के लिए किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक के परामर्श लेकर इस्तेमाल करें।

अंजीर कहां पाया या उगाया जाता है? (Where is Anjeer Found or Grown?)

अंजीर की खेती कई स्थानों पर की जाती है। जिस जमीन में चूने का अंश अधिक होता है, उसमें अंजीर बहुत अच्छी तरह से पैदा होता है। भारत में अंजीर की खेती उत्तर-पश्चिमी प्रदेशों, एवं दक्षिणी प्रदेशों में की जाती है। यह भूमध्यसागरीय भागों, दक्षिण-पश्चिम एशिया एवं मध्य पूर्वी भागों में भी पाया जाता है।

Go to – Full List of Benefits of Anjeer

Summary of Benefits of Anjeer: