Nirgundi: गुणों से भरपूर है निर्गुण्डी – Acharya Balkrishan Ji (Patanjali)

परिचय और मूल स्थान - Introduction & Origin of Nirgundi आयुर्वेद में कहा है - निर्ग़ुंडति शरीरं रक्षति रोगेभ्य तस्माद् निर्गुण्डी अर्थात् जो शरीर की रोगों से रक्षा करें, वह निर्...