header-logo

AUTHENTIC, READABLE, TRUSTED, HOLISTIC INFORMATION IN AYURVEDA AND YOGA

AUTHENTIC, READABLE, TRUSTED, HOLISTIC INFORMATION IN AYURVEDA AND YOGA

Home remedies for High BP: उच्च रक्तचाप में जल्दी फायदा करें यह घरेलू नुस्खे

उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर आधुनिक जीवनशैली में होने वाली गंभीर समस्या है। उच्च रक्तचाप की समस्या होने पर धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ जाता है। दबाव बढ़ने  के कारण धमनियों में रक्त का प्रवाह बनाए रखने के लिये दिल को सामान्य से अधिक काम करना पड़ता है। हाई ब्लड प्रेशर या उच्च रक्तचाप के कारण आपका हृदय काम करना बंद भी कर सकता है। हमारा हृदय धमनियों के माध्यम से खून को शरीर में पंप करता है जिससे हमें जीवन मिलता है। हमारे शरीर की धमनियों में बहने वाले रक्त के लिए एक निश्चित दबाव जरूरी है। जब किसी वजह से यह दबाव अधिक बढ़ जाता है, तब धमनियों पर दबाव पड़ता है और इस स्थिति को उच्च रक्तचाप कहते हैं। लगातार उच्च रक्तचाप रहना हमारे शरीर को कई तरह की हानि पहुँचा सकता है। यहाँ तक कि हार्ट फेल भी हो सकता है।

Contents

उच्च रक्तचाप क्या होता है (What is High Blood Pressure)

जब व्यक्ति असंतुलित आहार-विहार का सेवन करता है तो कफ व मेद की वृद्धि हो जाती है। कफ और मेद धमनियों में स्थान संश्रय कर धमनियों में कठिनता उत्पन्न करता है और वायु रक्त संवहन की प्रक्रिया को प्रतिकूल गति प्रदान कर रक्तचाप को बढ़ा देती है।

उच्च रक्तचाप क्यों होता है (Causes of High Blood Pressure)

उच्च रक्तचाप असंतुलित जीवनशैली और आहार के कारण तो होता ही है लेकिन ये भी कारण होते हैं-

-ब्लड प्रेशर हाई होने का प्रमुख कारण मोटापा होता है। मोटे व्यक्ति में बी.पी. बढ़ने का खतरा आम व्यक्ति से ज्यादा होता है।

-शारीरिक श्रम न करना। जो लोग व्यायाम, खेल-कूद और कोई भी शारीरिक क्रिया नहीं करते और आरामतलब जीवन जीते हैं, उन्हें रक्तचाप की समस्या हो सकती है।

-जो व्यक्ति शुगर, दिल के रोग, किडनी के रोगों से ग्रसित होते हैं एवं जिनकी रक्त धमनियां कमजोर होती हैं उनमें रक्तचाप उच्च हो जाता है।

-ज्यादा नमकीन खाद्य पदार्थों का सेवन करने से।

-पिज्जा, बर्गर, चाऊमिन, मोमोज आदि  खाने से बी.पी. बढ़ जाता है।

-जो व्यक्ति धूम्रपान और शराब का अधिक सेवन करते हैं।

-प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को भी बी.पी. बढ़ने की समस्या होती है।

उच्च रक्तचाप के कौन से लक्षण होते हैं (Symptoms of High Blood Pressure)

हाई बी.पी. में हृदयगत रोग, गुर्दे के रोग, आँख खराब होना, मस्तिष्क के खराब होने का खतरा बढ़ जाता है। उच्च रक्तचाप एक धीमा जहर है जो धीरे-धीरे शरीर के अंगों को खराब कर देता है। उच्च रक्तचाप से नियंत्रण में लाने के लिए या बचने के लिए सबसे पहले लक्षणों को जानना जरूरी होता है, चलिये इसके बारे में जानते हैं-

-उच्च रक्तचाप से ग्रसित व्यक्ति को तेज सिर दर्द होता है।

-थकावट और ज्यादा तनाव होता है।

-रोगी को सीने में दर्द होता है और भारीपन की अनुभूति होती है।

-रोगी को सांस लेने में परेशानी महसूस होना।

-रोगी को घबराहट महसूस होती है।

-कुछ भी समझने और बोलने में कठिनाई होना।

-पैरों का अचानक सुन्न होना।

-अत्यंत कमजोरी महसूस करना।

-धुंधला दिखाई पड़ना।

उच्च रक्तचाप से बचने के उपाय (How to prevent High Blood Pressure)

आम तौर पर असंतुलित भोजन और जीवनशैली के असर के कारण भी उच्च रक्तचाप होता है। इसके लिए आहार और जीवनशैली में थोड़ा बदलाव लाने की जरूरत होती है। जैसे-

वजन बढ़ने के साथ अक्सर ब्लड प्रेशर भी बढ़ता है। अधिक वजन सोते समय सांस लेने में बाधा उत्पन्न करती है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ता है इसलिए ब्लड प्रेशर कम करने का एक प्रभावी तरीका वजन कम करना है।

-प्रतिदिन 20-25 मिनट तक व्यायाम करें।

-स्वस्थ आहार जैसे साबुत अनाज, फल, सब्जियां, डेरी प्रोडक्ट्स एवं कम फैट वाले भोजन से बी.पी. कम हो जाता है।

-उच्च रक्तचाप के रोगी को अपनी डायट में मैग्निशियम, कैल्शियम और पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ अधिक खाने चाहिए।

-दूध, हरी सब्जियां, दाल, सोयाबीन, प्याज, लहसुन और संतरें में ये पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में होते हैं।

-प्रतिदिन मेवे में 4 अखरोट एवं 5 से 7 बादाम खाएं।

-उच्च रक्तचाप में फलों में सेब, अमरूद, अनार, केला, अंगूर, अनानास, मौसंबी, पपीता।

-हर रोज सुबह खाली पेट लहसुन की 2 कलियां खाएं।

-खट्टे फल, नींबू पानी, सूप, नारियल पानी, सोया, अलसी और काले चने खाएं।

-रोजाना पानी अधिक मात्रा में पीये।

-भोजन के लिए सोयाबीन तेल इस्तेमाल करना चाहिए।

-सलाद में प्याज, टमाटर, मूली, गाजर, खीरा, गोभी का सेवन करने से रक्तचाप सामान्य हो जाता है।

-बिना मलाई वाले दूध का सेवन करें।

-रक्तचाप उच्च होने में ओमेगा-3 भी शामिल करें।

-हाई ब्लड प्रेशर वाले व्यक्ति को डार्क चॉक्लेट का सेवन करना चाहिए। डार्क चॉक्लेट बी.पी. कम करती है।

उच्च रक्तचाप होने पर इन चीजों से करे परहेज-

-जिस व्यक्ति का बी.पी. हाई हो उसे नमक कम खाना चाहिए।

-कॉफी और चाय का सेवन अधिक करने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है।

-डिब्बा बंद खाद्य पदार्थों का सेवन न करें क्योंकि उनमें नमक ज्यादा होता है।

-स्मोकिंग और शराब का सेवन न करें।

-उच्च रक्त के व्यक्ति को चाय और कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए।

-बाहर की चीजें जैसे पिज्जा, बर्गर आदि का सेवन न करें।

-बेकिंग सोड़ा का सेवन उच्च रक्तचाप के रोगी को नहीं करना चाहिए।

-खाना खाते समय अपने भोजन में नमक ऊपर से न डालें।

-पापड़ भी बिना नमक के ही खाएं।

-चटनी, आचार, अजीनोमोटो, बेंकिंग पाउडर और सॉस खाने से परहेज करें।

-बी-पी. के रोगियों को ऐसा खाना नहीं खाना चाहिए जिसमें फैट अधिक हो।

-जब आप सोते हैं तो बी.पी. कम होता है। यदि आप भरपूर नींद नहीं लेंगे तो ब्लड प्रेशर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जो लोग कम सोते हैं उनका ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है।

-हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए गुस्सा जानलेवा होता है। जितना संभव प्रयास हो सके, तनाव और गुस्से से दूर रहना चाहिए। रोजाना मेडिटेशन और योगा करना चाहिए।

-बहुत अधिक मात्रा में मादक पदार्थों के सेवन से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है, जिससे आगे जाकर वजन बढ़ता है और दिल का दौरा पड़ने की संभावना भी बढ़ जाती है।

उच्च रक्तचाप कम करने के घरेलू उपाय (Home remedies for High Blood Pressure)

आम तौर पर उच्च रक्तचाप से राहत पाने के लिए लोग पहले घरेलू नुस्खें आजमाते हैं। चलिये जानते हैं कि ऐसे कौन-कौन-से घरेलू उपाय हैं जो उच्च रक्तचाप दूर करने में सहायता करते हैं-

लहसुन हाई ब्लड प्रेशर को करे कम (Garlic helps to control from High blood pressure)

लहसुन ब्लड प्रेशर ठीक करने में बहुत मददगार घरेलू उपाय है।

आँवले के रस का मिश्रण उच्च रक्तचाप को करे कम (Amla helps to ease High blood pressure)

एक बड़ा चम्मच आँवले का रस और इतना ही शहद मिलाकर सुबह-शाम लेने से हाई ब्लड प्रेशर में लाभ होता है।

काली मिर्च हाई ब्लड को करे कंट्रोल (Black pepper help to get relief from High blood pressure)

जब ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ हो तो आधे गिलास गुनगुने पानी में काली मिर्च पाउडर का एक चम्मच घोलकर दो-दो घंटे के अंतराल पर पीते रहें।

तरबूज उच्च रक्तचाप को करे कम (Watermelon help to control High blood pressure)

तरबूज के बीज की गिरी तथा खसखस अलग-अलग पीसकर बराबर मात्रा में रख लें। इसका रोजाना एक-एक चम्मच सेवन करें।

उच्च रक्तचाप में फायदेमंद नींबू (Lemon beneficial in High blood pressure)

बढ़े हुए ब्लड प्रेशर में एक गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़कर तीन-तीन घण्टे के अन्तर में पीना चाहिए।

तुलसी और नीम हाई ब्लड प्रेशर को करे कम (Tulsi and Neem water help to get relief from High blood pressure)

पाँच तुलसी के पत्ते तथा दो नीम की पत्तियों को पीसकर एक गिलास पानी में घोलकर खाली पेट सुबह पीएं।

खाली पैर हरी घास पर चलने से उच्च रक्तचाप होता है कम (Bare foot morning walk beneficial in High blood pressure)

हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को नंगे पैर हरी घास पर 10-15 मिनट तक चलना चाहिए। रोजाना चलने से ब्लड प्रेशर नॉर्मल हो जाता है।

पालक और गाजर का जूस उच्च रक्तचाप को करे कंट्रोल (Palak and Carrot juice help to control in High blood pressure)

ताजा पालक और गाजर का रस निकालें और प्रतिदिन पिएं। इसका रस लाभकारी सिद्ध होता है।

उच्च रक्तचाप करे कम करेला (Bittergourd help to control in High blood pressure)

करेला और सहजन की फल उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए परम हितकारी है।

ब्राउन राइस उच्च रक्तचाप को करे कंट्रोल (Brown rice help to get relief from High blood pressure)

उच्च रक्तचाप के रोगियों को ब्राउन चावल का ही सेवन करना चाहिए।

मेथीदाना हाई ब्लडप्रेशर को करे कंट्रोल (Fenugreek helps to cure High blood pressure)

3 ग्राम मेथीदाना पाउडर सुबह-शाम पानी के साथ लें। इसे प्रतिदिन खाने से लाभ मिलता है।

टमाटर उच्च रक्तचाप में फायदेमंद (Tomato help to control in High blood pressure)

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है टमाटर। रोजाना एक टमाटर या एक कप टमाटर का जूस पिएं।

अनार हाई ब्लड में लाभकारी (Pomegranate good for High blood pressure)

रोजाना एक अनार या अनार का जूस पीने से हाई ब्लड प्रेशर कम हो जाता है।

चुकंदर करे कंट्रोल हाई ब्लड प्रेशर (Pomegranate good for High blood pressure)

एक चुकंदर और आधी मूली लें। इनको छील कर इनके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें। मिक्सर में डालकर जूस निकाल लें। यह जूस दिन में एक बार पीने से हाई बी.पी. कण्ट्रोल में आ जाता है।

तिल का तेल उच्च रक्तचाप में फायदेमंद (Sesame oil help High blood pressure)

आप रोजाना अपने खाने में तिल के तेल का प्रयोग करें।

हल्दी उच्च रक्तचाप को करे कम (Turmeric good for High blood pressure)

सबसे पहले किसी फल का जूस या स्मूदी बनाएं। फिर इसमें ताजा अदरक डालकर पीयें। इसके अलावा अपने खाने में प्रतिदिन अदरक का प्रयोग करें।

नारियल हाई ब्लड प्रेशर को करे कंट्रोल (Coconut help to ease High blood pressure)

आप पूरे दिन में 2-3 बार नारियल पानी का प्रयोग करें।

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए (When to see a Doctor)

ब्लड प्रेशर सामान्य से कम या अधिक होना दोनों ही घातक हो सकते हैं। जब मरीज का रक्तचाप 140-90 से अधिक होता है तो उस स्थिति को उच्च रक्तचाप कहा जाता है। जब मरीज को सेने में दर्द और भारीपन की अनुभूति हो एवं सांस लेने में परेशानी हो। सर दर्द होना, कमजोरी या धुंधला दिखाई देने पर मरीज को डॉक्टर से जल्द से जल्द मिलना चाहिए। अन्यथा वह गंभीर रोग में परिवर्तित होकर घातक स्थिति तक पहुँच सकता है।