buy medicine online indiamedicine onlineloading...

    Propranolol

    Propranolol के बारे में जानकारी

    Propranolol का उपयोग

    Propranolol कैसे काम करता है

    Propranolol हृदय गति को धीमा करता है और रक्त वाहिकाओं को शिथिल बनाता है। प्रोप्रानोलोल, बीटा ब्लॉकर नामक दवाओं की एक श्रेणी से सम्बन्ध रखता है। प्रोप्रानोलोल, शरीर में कुछ विशेष केमिकलों (जैसे इपाइनफ्राइन) को अवरुद्ध करने का काम करता है जो हृदय और रक्त वाहिनियों को प्रभावित करते हैं। इस प्रभाव के कारण हृदय की गति, रक्तदाब, और हृदय पर पड़ने वाला तनाव कम हो जाता है।

    Propranolol के सामान्य दुष्प्रभाव

    उबकाई , उल्टी, पेट में दर्द , दस्त, मंदनाड़ी, बुरा सपना, हाथ पैरों का ठंडा पड़ना
    Content Details
    Last updated on:
    editorial-image
    Want to know more?
    Read Our Editorial Policy

    Propranolol के लिए उपलब्ध दवा

    • ₹12 to ₹64
      Sun Pharmaceutical Industries Ltd
      6 variant(s)
    • ₹42 to ₹82
      Cipla Ltd
      3 variant(s)
    • ₹18 to ₹46
      Abbott
      3 variant(s)
    • ₹18 to ₹46
      Cipla Ltd
      2 variant(s)
    • ₹12 to ₹68
      Alkem Laboratories Ltd
      9 variant(s)
    • ₹12 to ₹80
      Intas Pharmaceuticals Ltd
      6 variant(s)
    • ₹11 to ₹51
      Abbott
      3 variant(s)
    • ₹11 to ₹55
      Tas Med India Pvt Ltd
      5 variant(s)
    • ₹11 to ₹34
      Baroda Pharma Pvt Ltd
      4 variant(s)
    • 1 variant(s)

    Propranolol के लिए विशेषज्ञ की सलाह

    • Propranolol के कारण चक्कर आ सकता है और सिर्फ में हल्कापन महसूस हो सकता है। इससे बचने के लिए, बैठने या लेटने के बाद उठते समय धीरे-धीरे उठें।
    • Propranolol आपके ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकता है और लो ब्लड शुगर के लक्षणों को ढँक सकता है यदि आपको डायबिटीज है।
    • Propranolol आपके हाथों और पैरों में खून के बहाव को कम कर सकता है जिससे वे ठन्डे महसूस हो सकते हैं। बीड़ी-सिगरेट पीने से यह और भी बदतर हो सकता है। गर्म कपड़े पहनें और तम्बाकू का सेवन न करें।
    • किसी निर्धारित सर्जरी से पहले Propranolol को जारी रखना है या नहीं इस सम्बन्ध में अपने डॉक्टर की सलाह लें।
    • नवीनतम दिशानिर्देशों के अनुसार हाई ब्लड प्रेशर के लिए यह पहली पसंद वाला इलाज नहीं है, सिर्फ इस बात को छोड़कर यदि आपको हार्ट फेल होने या हार्ट की बीमारी है।
    • 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को साइड-इफेक्ट होने का ज्यादा खतरा हो सकता है।