Categories: घरेलू नुस्खे

दोमुँहें बालों के लिए घरेलू उपाय: Home remedies for Treatment of Split ends

महिला हो या पुरुष हर किसी को अपने बालों से बहुत प्यार होता है। लेकिन कई बार आप काम की व्यस्तता के चलते अपने बालों की देख-भाल नहीं कर पाते, जिसके कारणवश बालों से संबंधित समस्या होने लगती है। ऐसे में कई बार आपके बाल झड़ने लगते हैं तो कई बार दो मुँहे बालों की समस्या हो जाती है। यदि बालों की समय-समय पर देखभाल न की जाए तो बालों से संबंधित और भी कई समस्या होने लगती है।

Contents

बालों का दोमुँहा होना क्या होता है? (What is Split Ends of Hair?)

बालों का अंतिम झोर दो मुँह वाला हो जाना बालों का दोमुँह हो जाना कहलाता है। बालों की कटिंग या फिर ट्रिमिंग न करवाने से दो मुँहे बालों की समस्या हो जाती है। दो मुँहे बालों की समस्या किसी को भी हो सकती है, लेकिन ये ज्यादातर लम्बे बालों में होता है। आमतौर पर माना जाता है कि बालों की ट्रिमिंग न करवाने से ये दो मुँहे बाल हो जाते हैं। मेडिकल साइंस में माना जाता है कि क्यूटिकल्स में फाइबर की कमी होने लगती है।

और पढ़े- बालों को झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय

बाल दो मुँहे क्यों हो जाते हैं? (Causes of Split Ends of Hair)

बालों का सही तरह से देखभाल न करने के कारण बालों का दो मुँहा होना एक वजह तो होता है लेकिन दूसरे भी बहुत सारे कारण होते हैं जो निम्नलिखित है-

-जब बाल लम्बे होते जाते हैं तो प्राकृतिक तेल बालों के छोर तक नहीं पहुँच पाता जिस कारण बाल रूखे हो जाते हैं फलस्वरूप बालों के छोर दोमुँहा बन जाते हैं।

-बालों को बगैर कवर किए अधिक देर तक धूप में रखना।

-उम्र बढ़ने के साथ ही बालों में प्राकृतिक तेल बनने की प्रक्रिया भी कम हो जाती है इस कारण भी दो मुँहे बाल हो जाते हैं।

-गीले बालों को सूखाने के लिए टॉवल से रगड़ने पर भी दो मुँहे बाल हो जाते हैं।

-वातावरण का अत्यधिक गर्म, ठण्डा या नम होना भी बालों को दो मुँहा करने का कारण होता है।

-लगातार हेयर स्ट्रेट या हेयर कलर करवाने से भी स्प्लिट इंड की समस्या होती है।

-एल्कोहल युक्त हेयर प्रोडक्ट्स के प्रयोग से भी बाल दो मुँहे हो जाते हैं।

-खान-पान की गलत आदतों की वजह से और पोषण की कमी से बाल दो मुँहे हो जाते हैं।

-कई बार बालों की समय पर कटिंग या फिर ट्रिमिंग न करवाने से भी दो मुँहे बालों की समस्या हो जाती है।

-दो मुँहे बालों का मुख्य कारण है, बालों का रूखा होना। जब बालों से और पोषण की कमी से बाल दो मुँहे हो जाते हैं।

-बालों को ठीक से पोषण न मिलने के कारण या रूसी के कारण भी दो मुँहे बालों की समस्या होने लगती है।

-बालों पर बहुत अधिक हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करने से भी दो मुँहे बाल होने की आशंका बढ़ जाती है।

-बालों को सर्दियों के मौसम में बहुत अधिक गर्म पानी से धोना भी दो मुँहे बालों का कारण बन सकता है।

-बालों पर केमिकल स्प्रे का बहुत अधिक इस्तेमाल करने से या फिर जेल इत्यादि लगाने से भी बाल खराब हो जाते हैं जिससे दो मुँहे बालों की समस्या होने लगती है।

-मौसम के बहुत अधिक उतार-चढ़ाव के कारण भी बाल खराब होते हैं। ऐसे में यदि आप बालों को अधिक तेज धूप और धूल-मिट्टी से नहीं बचाएंगे तो निश्चित तौर पर आप दो मुँहे बालें के शिकार होंगे।

-यदि आप बाईक या दुपहिया वाहन पर बिना सिर ढके जाते हैं तो तेज हवा से आपके बाल खराब हो सकते हैं, ऐसे में आपके बाल अधिक रूखे हो जाते हैं जो कि दो मुँहे बालों का कारण है।

-बालों का रोल करवाना या स्ट्रेट करवाना, बालों पर प्रेसिंग करवाना या फिर हेयर स्टाईल बनवाते समय अलग-अलग कंघियों का इस्तेमाल करना इत्यादि दो मुँहे बालों के कारण होते हैं।

-बालों के लिए अच्छी क्वालिटी के उत्पाद प्रयोग करने के बजाय लोकल उत्पादों का चयन और घटिया क्वालिटी के शैंपू, कंडीश्नर और अन्य चीजों के कारण बालों के खराब होने और दो मुँहे होने की आशंका अधिक बढ़ जाती है।

-कई बार हेयर डाई के कारण भी बाल दो मुँहे हो जाते हैं। यदि आप अधिक मात्रा में अमोनियायुक्त हेयर कलर का इस्तेमाल करते हैं तो आपके बालों को इससे नुकसान हो सकता है।

-दो मुँहे बालों का एक मुख्य कारण है तनाव। जब आप दिमागी रूप से परेशान होते हैं तो उसका नकारात्मक असर आपके बालों पर पड़ता है ऐसे में आप बालों की देखभाल भी सही तरीके से नहीं कर पाते जिसके परिणाम स्वरूप आपको बालों की दो मुँहे जैसी समस्या से गुजरना पड़ता है।

और पढ़े- सफेद बालों को काला करने के घरेलू उपाय

बालों के लिए आहार योजना (Diet for Split Ends)

हर किसी का सपना होता है कि उसके बाल घने और सुन्दर हो और इस सपने को पूरा करने के लिए बाजार में उपलब्ध हजारों तरह के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन शायद ही कुछ असर होता है, लेकिन डायट में थोड़े से बदलाव से आप सुन्दर, चमकदार और हेल्दी बाल पा सकते हैं-

प्रोटीन- बालों की सेहत के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है। इसलिए डायट में प्रोटीन को शामिल करने के लिए अपने नाश्ते में एक बाउल ओट्स और दूध को शामिल करें। ओट्स में प्रोटीन के अलावा ओमेगा-3 फैटी एसिड और आयरन होता है जो बालों की विकास में मदद करता है और डेयरी उत्पाद में विटामिन-बी-7 होता है जो बालों के झड़ने और दो मुँहे बालों की समस्या को कम करता है।

कैल्शियम- ओट्स और दही भी खा सकते हैं क्योंकि यह कैल्शियम की कमी को पूरा कर बालों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

आयरन-आयरन युक्त आहार जैसे पालक, ब्रोकली और दूसरी हरी पत्तेदार सब्जियां विटामिन-ए और सी से भरपूर होती है।

विटामिन ए-सलाद में गाजर को शामिल करें क्योंकि इसमें मौजूद विटामिन-ए से भरपूर स्कैल्प को पौष्टिकता मिलती है।

गाजर-गाजर सिर्फ आंखों के लिए ही नहीं, बल्कि बालों के लिए भी बेहद फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद विटामिन-ए सिर की त्वचा को पोषण देने में सहायक होता है। यह बालों की कंडीशनिंग भी करती है। इसके अलावा आहार में लीन प्रोटीन का संतुलन, फल, सब्जियां, साबुत अनाज और फैटी फिश भी शामिल करें।

अखरोट-अखरोट बालों के लिए बहुत अच्छे फूड हैं। अखरोट में ओमेगा-6 फैटी एसिड के अलावा जिंग, आयरन, विटामिन-बी1, बीö6 और बी-9 होते हैं। इसमें प्रोटीन भी होता है, जो बालों को मजबूती प्रदान करता है।

और पढ़े: लैक्रिमेशन में अखरोट के फायदे

पालक-पालक को सब्जी या जूस के तौर पर लेने से बाल घने और काले होते हैं।

शकरकंद-शकरकंद में बीटा कैरिटीन और एंटी-ऑक्सिडेंट पाया जाता है।जो आपके बालों को घना और चमकदार बनाने में मदद करते हैं।

अंडा-अण्डे में प्रोटीन के अलावा आयरन, सल्फर, जिंक और सेलेनियम भी पाया जाता है। जो आपके बालों को झड़ने से रोकने में मदद करते हैं। प्रोटीन, विटामिन-बी12, आयरन, जिंक व ओमेगा-6 फैटी एसिड से युक्त अण्डा बालों के लिए वरदान है। यह बायोटिन का अच्छा स्रोत है जो बालों का गिरना कम करता है।

और पढ़ेंबालों के लिए गुंजा के फायदे

बादामबादाम के तेल में 2-3 चम्मच दूध मिलाकर बालों में लगाने से बालों की जड़े मजबूत होती है क्योंकि बादाम में आयरन, कॉपर, फास्फोरस, विटामिन-बी-1 और प्रोटीन पाया जाता है।

केला-केले में शुगर, फाइबर, थाइमिन और फॉलिक एसिड के रूप में विटामिन-ए और बी मौजूद होता है। नियमित तौर पर केला खाने से बाल काफी मजबूत कर सकते हैं।े

और पढ़े- केला के फायदे

दोमुँहे बाल से बचने के उपाय (Prevention Tips for Split Ends)

बालों को दोमुँहा होने से बचाने के लिए जीवनशैली में कुछ बदलाव लाना ज़रूरी होता है-

-बाले को दो मुँहे होने से बचाने के लिए बालों को गर्मी वाले उपकरण जैसे हेयर कलर, स्ट्रेटनर्स और हेयर ड्रायर का प्रयोग कम करें। यह उपकरण हमारे बालों को हानि पहुँचाते है और इनसे निकलने वाली गर्मी बालों को बेजान बनाती है और दो मुँहे बाल हो जाते हैं।

-रसायन युक्त उत्पादों का इस्तेमाल बालों पर करने से इनको हानि पहुँचती है और ये उत्पाद दो मुँहे बालों का भी कारण बनते हैं।

-सप्ताह में ज्यादा से ज्यादा दो या तीन बार ही धोना चाहिए। बालों को अधिक धोने से भी दो मुँहे बाल होने की परेशानी होती है।

-बालों के लिए तेल काफी जरूरी होता है और अगर इनमें तेल न लगाया जाए तो बालों में रूखापन आ जाता है जिसके कारण दो मुँहे बाल हो जाते हैं।

-बालों पर एक से अधिक शैम्पू का इस्तेमाल करने से भी इन पर बुरा असर पड़ता है और ये टूटने लगते हैं और दो मुँहे बाल हो जाते हैं।

-पतले और बेकार रबर बैंड का प्रयोग करने से भी बालों पर बुरा असर पड़ता है और जब आप इन्हें बालों से निकालते हैं तो कई सारे बाल इनमें फंस जाते हैं और टूटने लगते हैं और फिर से बढ़ते भी नहीं है जिसके कारण दो मुँहे बाल हो जाते हैं।

-बालों पर किसी भी प्रकार का रंग न लगाएं क्योंकि बालों पर रंग करने वाले उत्पादों में कई घातक केमिकल होते हैं जो बालों को बेजान बना देते हैं, जिससे बाल टूटने लगते हैं और दो मुँहे हो जाते हैं।

-धूप में जाने से बालों को नुकसान पहुँचता है इसलिए जब भी धूप में जाएं तो बालों को किसी कपड़े से ढक लें ताकि सूरज की किरणों से इनको किसी प्रकार का नुकसान नही पहुँचे।

-बालों को धोने के बाद इनको सुखाने के लिए केवल माइक्रोफाइबर तौलिया का ही इस्तेमाल करें और बालों को ज्यादा तेजी से न झाड़ें।

-बालों को बाँध कर सोने से दो मुँहे बालों की परेशानी नहीं होती है, इसलिए आप सोते समय इनको खुला न छोड़ें। इसके अलावा समय-समय पर बालों को नीचे से कटवाते यानी ट्रिमिंग करते रहें ताकि दो मुँहे बाल न हों।

-केवल साफ पानी से ही बालों को धोएं क्योंकि अशुद्ध पानी से बालों को धोने से इनको नुकसान पहुँचता है और ये टूटने लगते हैं और वहीं कंघी करने से पहले बालों को हाथों से सुलझा लें। बालों के सुलझने के बाद ही इन्हें कंघी करें।

और पढ़ेंबहेड़ा के फायदे बालों के लिए

दोमुँहा बाल से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Split Ends)

आम तौर पर दोमुँहे बाल से निजात पाने के लिए सबसे पहले घरेलू नुस्ख़ों को ही अपनाया जाता है। यहां हम पतंजली के विशेषज्ञों द्वारा पारित कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे जिनके प्रयोग से दोमुँहे बालों से छुटकारा पाया जा सकता है।

दोमुँहे बालों से निजात पाने के लिए नारियल तेल से करें मसाज (Oil Massage Beneficial for Split Ends of Hair in Hindi)

नारियल का तेल बालों पर लगाने से इस समस्या को निजात पाया जा सकता है। इसके लिए पूरे बालों में अच्छी तरह से तेल लगाने से लाभ मिलता है।

दोमुँहे बालों से निजात पाने के लिए अंडे का मास्क फायदेमंद (Egg Mask Beneficial for Split Ends of Hair in Hindi)

अंडे का मास्क बालों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। आपके बालों की लम्बाई के हिसाब से अंडे लें और इसमें एक बड़ा चम्मच शहद और तीन चम्मच जैतून का तेल मिला लें और फिर इसे बालों पर लगा लें। जब ये अंडे का मास्क सूख जाए तो बालों को गुनगुने बालों से धो लें। इससे बाल सिल्की और हेल्दी हो जायेंगे।

और पढ़ेंबालों की समस्या के लिए छरीला के फायदे

दोमुँहे बालों से निजात पाने के लिए केले का मास्क फायदेमंद (Banana Mask Beneficial for Split Ends of Hair in Hindi)

केले का मास्क बनाने के लिए केले को अच्छी तरह से पीसना होगा और फिर उसमें दो बड़े चम्मच शहद और लगभग तीन चम्मच जैतून या नारियल का तेल मिलाएं। इन सब चीजों को अच्छे से मिलाने के बाद आप इस मिश्रण को बालों पर लगाएं और कुछ देर बाद इसे साफ कर लें।

दोमुँहे बालों से निजात पाने के लिए पपीता का मास्क फायदेमंद (Papaya Mask Beneficial for Split Ends of Hair in Hindi)

पपीते का मास्क बालों पर लगाने से दो मुँहे बालों की समस्या समाप्त हो जाती है। इसलिए आप पपीते का मास्क बनाने के लिए आपको इसमें आधा कप दही डालें और तब तक मिलाना होगा जब तक मुलायम न हो जाए। वहीं जब ये मिश्रण तैयार हो जाए तो आप इसे बालों पर लगा सकते हैं। आधा घण्टा रखने पर इसे धो लें।

और पढ़े: पपीता के फायदे

दोमुँहे बालों से निजात पाने के लिए दही फायदेमंद (Curd Beneficial for Split Ends of Hair in Hindi)

बालों की समस्या को दूर करने में दही लाभकारी होती है। जमी हुई दही से बालों की मसाज करें और 15-20 मिनट के बाद बालों को धो लें।

और पढ़ेटमाटर के फायदे बालों के लिए

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (When to See a Doctor?)

बालों को दो मुँहे होना एक आम समस्या है। दो मुँहे बाल होने पर हमें उनकी देखभाल करनी चाहिए। दो मुँहे बाल होने पर डॉक्टर से मिलने की आवश्यकता नहीं होती।

और पढ़ेंबालों का रूखापन कम करने के घरेलू उपाय

आचार्य श्री बालकृष्ण

आचार्य बालकृष्ण, स्वामी रामदेव जी के साथी और पतंजलि योगपीठ और दिव्य योग मंदिर (ट्रस्ट) के एक संस्थापक स्तंभ है। उन्होंने प्राचीन संतों की आध्यात्मिक परंपरा को ऊँचा किया है। आचार्य बालकृष्ण जी एक प्रसिद्ध विद्वान और एक महान गुरु है, जिनके मार्गदर्शन और नेतृत्व में आयुर्वेदिक उपचार और अनुसंधान ने नए आयामों को छूआ है।

Share
Published by
आचार्य श्री बालकृष्ण

Recent Posts

गले की खराश और दर्द से राहत पाने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मौसम बदलने पर अक्सर देखा जाता है कि कई लोगों के गले में खराश की समस्या हो जाती है. हालाँकि…

12 months ago

कोरोना से ठीक होने के बाद होने वाली समस्याएं और उनसे बचाव के उपाय

अभी भी पूरा विश्व कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह उबर नहीं पाया है. कुछ महीनों के अंतराल पर…

12 months ago

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज (Home Remedies for Dengue Fever)

डेंगू एक गंभीर बीमारी है, जो एडीस एजिप्टी (Aedes egypti) नामक प्रजाति के मच्छरों से फैलता है। इसके कारण हर…

1 year ago

वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याएं और इनसे बचने के घरेलू उपाय

वायु प्रदूषण का स्तर दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है और सर्दियों के मौसम में इसका प्रभाव हमें साफ़ महसूस…

1 year ago

Todari: तोदरी के हैं ढेर सारे फायदे- Acharya Balkrishan Ji (Patanjali)

तोदरी का परिचय (Introduction of Todari) आयुर्वेद में तोदरी का इस्तेमाल बहुत तरह के औषधी बनाने के लिए किया जाता…

2 years ago

Pudina : पुदीना के फायदे, उपयोग और औषधीय गुण | Benefits of Pudina

पुदीना का परिचय (Introduction of Pudina) पुदीना (Pudina) सबसे ज्यादा अपने अनोखे स्वाद के लिए ही जाना जाता है। पुदीने…

2 years ago