header-logo

AUTHENTIC, READABLE, TRUSTED, HOLISTIC INFORMATION IN AYURVEDA AND YOGA

AUTHENTIC, READABLE, TRUSTED, HOLISTIC INFORMATION IN AYURVEDA AND YOGA

दांत दर्द के लिए घरेलू इलाज (Home Remedies for Toothache)

जब भी दांतों में दर्द होता है तो व्यक्ति कुछ खा नहीं सकता। दांत के दर्द के कारण हमेशा परेशान रहता है। यह भी संभव नहीं है कि बार-बार होने वाले दांत दर्द के इलाज के लिए रोगी अपना काम-धंधा छोड़कर डॉक्टर के पास चला जाए। इसलिए घरेलू उपचार की जरूरत पड़ती है। अगर आप भी परेशान हैं, तो दांत दर्द के लिए घरेलू उपचार आजमा सकते हैं।

Dental pain

दांत में दर्द होना वैसे तो एक आम समस्या है, लेकिन ये बेहद असहनीय होता है। दांत दर्द की वजह से कई बार चेहरे पर सूजन भी आ जाती है। यहां तक कि सिर में दर्द भी हो सकता है। दांत का दर्द किसी भी उम्र में हो सकता है। विशेषज्ञों की मानें तो दांत दर्द होने पर तुरंत पेन किलर या एंटीबायोटिक दवा खाने की बजाय घरेलू उपचार अपनाने चाहिए।

Contents

दांत का दर्द क्या है (What is Toothache?)

आयुर्वेद के अनुसार, दांत में दर्द वात दोष के कारण होता है। खानपान में सुधार, साफ-सफाई एवं घरेलू नुस्खों से दांत के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। 

दांत दर्द के प्रकार (Toothache Types in Hindi)

दांत दर्द (Teeth pain) दो तरह के होते हैंः-

  • इसमें दांतों में तेज दर्द होता है, जिसे शार्प टूथ पेन (Sharp Tooth Pain) कहते हैं। यह कुछ खाते समय, या बात करते समय एकदम तेजी से होता है।
  • इसमें दर्द ज्यादा गरम या ठण्डा खाना खाने के कारण होता है। इस दर्द को डल टूथ पेन (Dull Tooth Pain) भी कहते हैं। यह हल्का तथा ज्यादा लम्बे समय तक रहता है।

 

दांत दर्द के कारण (Causes of Toothache in Hindi)

दांत में दर्द होने के ये कारण हो सकते हैंः-

  • स्वस्थ दांतों के लिए दांतों का ध्यान रखना जरूरी होता है। दांतों का ख्याल नहीं रखा गया तो दांतों में कीड़े लगने का डर रहता है। इससे दांतों में कैविटी हो जाती है। यह दांत के दर्द का कारण बनता है।
  • दांतों की जड़ों का कमजोर होना। गलत तरीके से दांतों की सफाई करने से दांतों की जड़ें कमजोर हो जाती हैं। इससे दांतों में दर्द होता है।
  • दांतों के टूटने से भी दांतों में दर्द होता है।
  • अक्ल दाढ़ (Wisdom Tooth) निकलने के दौरान दांतों में असहनीय दर्द होता है।
  • अधिक मीठे खाने से भी दांत दर्द होता है। मीठा खाने के बाद, खाने के अंश दांतों और मसूड़ों में रह जाते हैं। यह कीटाणु अम्ल पैदा करते हैं, जो दांतों को नुकसान पहुंचाते हैं। यह संक्रमण दांतों की जड़ों तक पहुंच कर दांतों में दर्द पैदा करता है।
  • कैल्शियम की कमी के कारण दांत कमजोर पड़ जाते हैं, जिस कारण दांतों में दर्द होता है।
  • दांतों में बैक्टीरिया के इन्फेक्शन के कारण दर्द होने लगता है।

छोटे बच्चों में दांत दर्द के कारण (Causes of Dental Pain in Children in Hindi)

छोटे बच्चों में अक्सर दांत दर्द की समस्या देखी जाती है। बच्चों के ज्यादा मीठा खाने, तथा दांतों की साफ-सफाई सही से ना रखने के कारण बैक्टीरियल इन्फेक्शन होने का ज्यादा खतरा बना रहता है। इस कारण उनके दांतों में कैविटी बन जाती है। इससे दर्द होने लगता है।

Dental pain in kids

और पढ़े: दांत दर्द में पेपरमिंट के फायदे

अक्ल दाढ़ क्या है? (What is Wisdom Tooth in Hindi?)

अक्ल दाढ़ (Wisdom Tooth) सामान्य रूप से 17 से 25 साल के बीच में आ जाती है। कई लोगों में यह 25 साल के बाद भी आती है। ये काफी मजबूत होते हैं। यह दांत सबसे आखिरी में आते हैं, इसलिए जब इन्हें जगह नहीं मिल पाती, तो यह मसूड़ों और दांतों पर दबाव बनाते हैं। इससे असहनीय पीड़ा होती है।अक्ल दाढ़ आने का दर्द लगभग एक-दो दिन, या कभी-कभी तीन दिन तक भी रहता है।

इसमें तेज दर्द के साथ-साथ सिर दर्द भी हो सकता है। व्यक्ति को भोजन चबाने में तकलीफ होती है। मसूड़ों में सूजन आ जाती है। अक्ल दाढ़ आने का दर्द कभी-कभी अचानक हो जाता है। कई बार यह दर्द  (Dant me dard) धीरे-धीरे व आराम से होता है। इसलिए हर 6 महीने में दांतों के डॉक्टर के पास जाकर इस समस्या का पहले से ही पता लगाया जा सकता है।

और पढ़ेंदाढ़ के दर्द में आक के फायदे

दांत के दर्द के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Toothache in Hindi) 

एलोपैथिक उपचार में केवल दांत के दर्द (Dant me dard) को कुछ समय के लिए दबाया जाता है, और इसके लिए पेन किलर, एनाल्जेसिक या एंटीबायोटिक खाने को बोला जाता है। एलोपैथिक दवाओं से शरीर में साइड-इफ़ेक्ट होने का खतरा भी रहता है। इसकी बजाय दांत दर्द में तुरंत आराम पाने के लिए घरेलू उपचार (Dant Dard Ke Gharelu Upay) अपनाना फायदेमंद  होता है, जो ये हैंः-

लौंग का प्रयोग कर दांत दर्द का इलाज (Cloves: Home Remedies for Toothache in Hindi)

एक लौंग को दांत के नीचे दबाकर रखने से दांत दर्द में तुरंत आराम मिलता है। लौंग का तेल भी दर्द को भगाने में प्रभावी होता है।

और पढ़ेंः लौंग के फायदे और नुकसान

 

लहसुन के प्रयोग से दांत दर्द का उपचार (Garlic : Home Remedies for Tooth Pain in Hindi)

दांत में दर्द होने पर लहसुन को चबा लें। इसके अन्दर मौजूद Allicin  प्राकृतिक जीवाणुरोधी एजेंट है। यह दांत दर्द को खत्म करता है।

Garlic benefits

और पढ़ेंः लहसुन के फायदे और नुकसान

 

दांत दर्द की दवा है हींग (Hing : Home Remedies to Treat Teeth Pain in Hindi)

चुटकी भर हींग को मौसमी के रस में मिलाकर रूई में लगा लें। इसे दर्द वाले दांत के पास रखें। यह दांत दर्द से तुरंत आराम दिलाने का सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। 

और पढ़ेंः हींग के फायदे और नुकसान

 

दांत दर्द से तुरंत आराम दिलाता है हल्दी (Turmeric: Home Remedies for Toothache Treatment in Hindi)

हल्दी एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है। हल्दी, नमक और सरसों के तेल के पेस्ट को दर्द वाले दांत पर लगाना चाहिए। यह दांत दर्द की दवा की तरह जल्दी असर करता है और दर्द से तुरंत आराम दिलाता है।

और पढेंदांत के दर्द में चुकन्दर के फायदे

 

दांतों के दर्द से छुटकारा के  लिए आलू का इस्तेमाल (Potato: Home Remedies to Treat Dental Pain in Hindi)

आलु को छोटे टुकड़ों में काटकर कच्चा ही अच्छी तरह चबाएं। इससे कुछ देर में दांत दर्द (Dant me dard) से आराम मिल जाता है. 

और पढ़ेंः आलू के अनेक लाभ

 

दांत दर्द की परेशानी में प्याज से फायदा (Onion: Home Remedies for Dental Pain Treatment in Hindi)

प्याज अपने गुणों के कारण मुंह के जीवाणु एवं बैक्टीरिया को नष्ट कर देते हैं। दांत में दर्द होने पर प्याज के टुकड़े को दांत के पास रखें, या चबाएं। 

Onion benefits

और पढ़ेंः प्याज के फायदे और नुकसान

 

दांत दर्द की दवा है बेकिंग सोडा (Baking Soda: Home Remedies for Toothache in Hindi)

रूई को पानी में डालकर निचोड़ लें। इसमें बेकिंग सोडा छिड़कें, फिर इसे दर्द वाले दांत पर अच्छी तरह घुमाएं। इसके अलावा गुनगुने पानी में बेकिंग सोडा डालकर उससे कुल्ला करें। दांत दर्द होने पर दवा खाने के बजाय पहले इस घरेलू नुस्खे को आजमाएं, यह दांत दर्द में तुरंत आराम पहुंचाता है।

और पढ़ेदांत के रोग में बाकुची के फायदे

 

काली मिर्च का पाउडर दांत के दर्द का इलाज (Black Pepper: Home Remedies to Treat Teeth Pain  in Hindi)

दांतों में ठंडा एवं गरम लगने से होने वाले दर्द के लिए काली मिर्च पाउडर, और नमक को बराबर मात्रा में मिलाएं। इसमें कुछ बूंद पानी मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे दर्द वाली जगह पर लगाकर कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। ऐसा करने से दांत दर्द जल्दी ठीक हो जाता है।

और पढ़ेदांत दर्द में कचनार के फायदे

 

अमरूद के सेवन से दांत दर्द का इलाज (Guava : Home Remedy for Toothache in Hindi)

  • अमरूद के पेड़ की ताजी पत्तियों को साफ करके मुंह में रख कर चबाएं।
  • अमरूद के पेड़ की ताजी पत्तियों को पानी में उबालकर ठण्डा कर लें। इसमें नमक मिलाएं और कुल्ला करें। अमरूद के पत्तों में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसके प्रयोग से दांत के दर्द में तुरंत आराम मिलता है।

Amrud ke fayde

और पढ़ेंः अमरूद के फायदे

हाइड्रोजन पेरोक्साइड से दांत दर्द का उपचाार (Hydrogen Peroxide: Home Remedy for Tooth Pain Treatment in Hindi)

हाइड्रोजन पेरोक्साइड से कुल्ला करें। यह दर्द और सूजन को ठीक करता है। बैक्टीरिया को दूर करता है। इसके अलावा यह दांतों में लगे Plaque एवं मसूड़ों से निकलते खून की समस्या को भी दूर करता है।

और पढ़ेंदांत दर्द में काजू के फायदे

 

दांत दर्द में आपका खान-पान  (Your Diet for Toothache)

दांत के दर्द से परेशान लोगों को अपना खान-पान  ऐसा रखना चाहिएः-

  • मीठे और चिपचिपे पदार्थ का सेवन कम से कम करें।
  • बहुत ज्यादा ठण्डा और बहुत ज्यादा गरम चीजें ना खाएं।
  • कुछ भी खाने के बाद अच्छी प्रकार कुल्ला करें।

 

दांद दर्द में आपकी जीवनशैली (Your Lifestyle During Dental Pain)

दांत के दर्द के दौरान आपकी जीवनशैली ऐसी होनी चाहिएः-

  • नियमित रूप से सुबह और सोने से पहले ब्रश से दांतों की सफाई करें।
  • हर 6 महीने में अपने दन्त चिकित्सक से दांतों का चेकअप कराएं।

 

दांत दर्द होने पर डॉक्टर से कब सम्पर्क करें? (When to Contact Doctor in Dental Pain?)

अधिकांश लोग दांत में दर्द होते ही दर्द वाली दवा खाने लगते हैं जबकि आपको पहले ऊपर बताए गए घरेलू उपाय (Dant Dard Ke Gharelu Upay) आजमाने चाहिए। अगर इन घरेलू उपायों के बाद भी दांत दर्द से आराम ना हो तो नजदीकी डॉक्टर से सम्पर्क करें। आप इन अवस्था में डॉक्टर से सम्पर्क कर सकते हैंः-

  • यदि दांत का दर्द एक दिन से ज्यादा बना रहे, और घरेलू उपचार करने से आराम न मिल रहा हो।
  • मसूड़ों से खून एवं बदबू आ रही हो।
  • अक्ल दाढ़ के कारण होने वाला दर्द यदि बहुत अधिक हो रहा हो।

और पढ़ेदांतों के रोग में चित्रक के फायदे