Categories: घरेलू नुस्खे

कोरोना से ठीक होने के बाद होने वाली समस्याएं और उनसे बचाव के उपाय

अभी भी पूरा विश्व कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह उबर नहीं पाया है. कुछ महीनों के अंतराल पर वायरस का कोई न कोई नया वैरिएंट सामने आ रहा है और लोग उसकी चपेट में आ रहे हैं. जहाँ कुछ महीने पहले तक डेल्टा वैरिएंट को काफी खतरनाक माना जा रहा था वहीँ अब हर जगह ‘ओमिक्रोन’ वैरिएंट की चर्चा है. आंकड़ों के अनुसार कोविड से रिकवर होने वाले लोगों की संख्या में दिन प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है.

कोरोना महामारी से उबरने के बाद भी कई लोगों को बहुत से अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्यायों का सामना करना पड़ रहा है. कुछ लोग कई दिनों तक खांसी से परेशान रह रहे हैं वहीँ अधिकांश लोगों के बाल तेजी से झड़ने लग रहे हैं. इसके अलावा भी कई अन्य समस्याएं देखने को मिल रही हैं. इस लेख में हम आपको कोविड से ठीक होने के बाद होने वाली समस्याओं और उनसे बचने के आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बता रहे हैं :

Contents

कोविड से रिकवर होने के बाद होने वाले साइड इफ़ेक्ट (Side Effects after Covid Recovery in Hindi)

कोविड से रिकवर होने के बाद भी कई लोगों की शिकायतें आ रही हैं कि उनके बाल बहुत झड रहे हैं या शरीर की कमजोरी कई हफ़्तों तक ठीक नहीं हो रही है. वहीँ डायबिटीज के मरीजों में शुगर का लेवल अनियंत्रित होना या स्ट्रेस बढ़ना भी इसका आम साइड इफ़ेक्ट देखा गया है. ऐसे में यह ज़रूरी है कि आप अपने खानपान और स्वास्थ्य का ध्यान रखें एवं समय-समय पर ज़रूरी जांच करवाते रहें.

अगर आप कोविड से ठीक होने के बाद अब इन समस्याओं से परेशान हैं तो इस लेख में बताए गए घरेलु नुस्खों को आजमाएं. इन घरेलु उपचारों की मदद से शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ती है और इन समस्याओं से जल्दी राहत मिलती है.

लंबे समय तक खाँसी की समस्या बने रहना (Persistent cough for a long time)

कोविड संक्रमित होने पर खांसी आना इस संक्रमण का मुख्य लक्षण बताया गया है, लेकिन जब लोग इस बीमारी से ठीक हो जा रहे हैं तब भी कुछ लोगों की खांसी कई हफ़्तों तक ठीक नहीं हो रही है. अगर आप भी खांसी से परेशान हैं तो नीचे बताए गए घरेलु उपचार अपना सकते हैं :

खांसी ठीक करने के घरेलू उपाय (Home remedies for Cough in Hindi)

एक गिलास दूध में एक चुटकी हल्दी पाउडर डालकर कुछ देर तक उबालें और बाद में इसे गुनगुना होने पर पिएं. इस गुनगुने दूध का दिन में दो बार सेवन करें.

अगर आपको सूखी खांसी हो रही है तो मुलेठी के चूर्ण का उपयोग करें.

शरीर में कमजोरी या थकावट (Weakness or Tiredness)

कोरोना वायरस, शरीर को बहुत हद तक अंदर से कमजोर कर देता है. संक्रमण के दौरान तो कमजोरी इतनी बढ़ जाती है कि मरीज को चलने फिरने में कठिनाई होने लगती है. संक्रमण से ठीक होने के बाद भी कई लोग काफी दिनों तक तेज थकान या कमजोरी महसूस करते हैं. आइए जानते हैं कि इससे कैसे निजात पाएं :

कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Weakness in Hindi)

अगर आप कोविड संक्रमण के बाद शारीरिक रूप से बहुत कमजोर हो गए हैं तो इसके लिए ज़रूरी है कि आप अपनी डाइट में पौष्टिक चीजों का सेवन बढ़ा दें. पौष्टिक आहार जैसे कि फल, हरी सब्जियां आदि शरीर को पर्याप्त मात्रा में उर्जा देती हैं. इसके साथ ही सुबह शाम एक-एक चम्मच च्वयनप्राश का सेवन करें.

बालों का तेजी से झड़ना (Post Covid Hair Fall)

कोरोना से लड़कर ठीक होने के बाद एक समस्या जो अधिकांश लोगों में देखने को मिल रही है वो है बालों का बहुत तेजी से गिरना. खासतौर पर महिलाएं बाल झड़ने की इस समस्या से बहुत ज्यादा चिंतित हैं. कुछ जगहों पर ऐसा भी पाया गया है कि कोविड वैक्सीन लगवाने के कुछ हफ़्तों बाद अचानक से बाल ज्यादा गिरने लग रहे हैं. अगर आप इस समस्या से जूझ रहें हैं तो नीचे बताए गए घरेलू उपाय अपनाएं साथ ही अगर कुछ दिनों में आराम ना मिले तो डॉक्टर से संपर्क करें.

बालों को झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय (Home remedies to control Hair fall in Hindi)

  • बालों के झड़ने की समस्या से निजात पाने के लिए संतुलित और पौष्टिक आहार ले साथ ही खाने में हरी सब्जी और फलों का उपयोग बढ़ा दें.
  • ऐसे समय में शरीर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन मिलना ज़रूरी होता है इसलिए अपनी डाइट में दालों का सेवन बढ़ा दें.
  • आयुर्वेदिक विशेषज्ञों के अनुसार आंवला का सेवन बालों के लिए बहुत ही उपयोगी होता है. इसके लिए आप दिन में एक बार आंवले का जूस पिएं और अगर आपको जूस का स्वाद अच्छा नहीं लग रहा है तो आप आंवले के मुरब्बे का सेवन कर सकते हैं.

शुगर लेवल अनियंत्रित होना (Uncontrolled Diabetes)

कोरोना के समय सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को हुई जो पहले से डायबिटीज के मरीज थे क्योंकि उनका शुगर लेवल वायरस के संक्रमण के प्रभाव के कारण अनियंत्रित होने लगा. शुगर लेवल अनियंत्रित होने की यह समस्या कोविड से रिकवर होने के बाद भी कई लोगों में देखी गई. आइए जानते हैं डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए आप क्या करें.

डायबिटीज को नियंत्रित करने के घरेलू उपाय (Home remedies for Uncontrolled Diabetes in Hindi)

अगर आप कोविड से रिकवर हो चुके हैं और अभी भी आपका शुगर लेवल अनियंत्रित रहता है तो सबसे ज़रूरी है कि आप अपने खानपान और जीवनशैली में सुधार लाएं. रोजाना सुबह शाम नियमित रूप से व्यायाम करें और भरपूर नींद लें. इन उपायों के अलावा नियमित रूप से अपने डॉक्टर के संपर्क में रहें और उनकी सलाह के अनुसार दवाएं लेते रहें.

तनाव या डिप्रेशन की समस्या :

कोविड का सबसे बुरा असर लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ा है. कोविड से रिकवर हुए ऐसे कई लोगों में यह देखने को मिला है कि वे स्ट्रेस और डिप्रेशन जैसी मानसिक बीमारियों से घिर चुके हैं. ऐसी अवस्था में आपको समय समय पर जाकर मानसिक रोग विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए और उनके अनुसार अपनी जीवनशैली में बदलाव लाने चाहिए. आइए कुछ आयुर्वेदिक उपायों के बारे में भी जानते हैं :

तनाव या डिप्रेशन से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय :

आयुर्वेदिक विशेषज्ञों के अनुसार, अश्वगंधा का सेवन मानसिक अवसाद (डिप्रेशन) को दूर करने में मदद करता है. इसलिए आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह अनुसार अश्वगंधा का सीमित मात्रा में सेवन करें.

नियमित रूप से योग और ध्यान करने से भी स्ट्रेस और डिप्रेशन जैसे मानसिक रोगों को कम किया जा सकता है. रोजाना सुबह और शाम को कम से अकम आधे घंटे ध्यान और योग करें.

ठीक से नींद ना आने की समस्या :

कोविड के साइड इफ़ेक्ट के रूप में कई लोगों को नींद से जुड़ी समस्याएं भी हो रही हैं. पहले की तुलना में कोविड से रिकवर होने के बाद अब उन्हें भरपूर नींद लेने में कठिनाई हो रही है. अगर आप भी नींद से जुड़ी समस्या या अनिद्रा से परेशान हैं तो इन उपायों को आजमाएं.

अनिद्रा या नींद से जुड़ी समस्या दूर करने के घरेलू उपाय :

  • अगर रात में आपको ठीक से नींद नहीं आ रही है तो इसके लिए रात में सोने से पहले तिल के तेल से शरीर की मालिश करें.
  • रात में सोने से पहले नाक में अणु तेल (आयुर्वेदिक तेल) की कुछ बूंदें डालने से भी अच्छी नींद आती है.

अक्सर मौसमी बीमारियाँ होना :

यह सच है कि मजबूत इम्यूनिटी के कारण ही हम इस वायरस से लड़ने में कामयाब हुए लेकिन फिर भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता बहुत कमजोर हो जाती है. कमजोर इम्यूनिटी होने पर ऐसा देखा गया है कि कोविड से रिकवर होने के बाद भी लोग बार-बार समी बीमारियों जैसे कि सर्दी-जुकाम, वायरल आदि की चपेट में आ रहे हैं. आइए जानते हैं कि मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए क्या करें :

मौसमी बीमारियों से निपटने के घरेलू उपाय :

  • मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए यह ज़रूरी है कि शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाया जाए. इसके लिए आप रोजाना सुबह एक चम्मच च्वयनप्राश का सेवन करें. यह इम्यूनिटी बढ़ाने में बहुत कारगर है.
  • अपनी डाइट में फलों और हरी सब्जियों का सेवन बढ़ा दें एवं नियमित रूप से व्यायाम करें.
  • ड्राई फ्रूट्स जैसे कि बादाम, अखरोट, पिस्ता आदि का सीमित मात्रा में सेवन करने से भी इम्यूनिटी बढ़ती है और मौसमी बीमारियों से छुटकारा मिलता है.
आचार्य श्री बालकृष्ण

आचार्य बालकृष्ण, स्वामी रामदेव जी के साथी और पतंजलि योगपीठ और दिव्य योग मंदिर (ट्रस्ट) के एक संस्थापक स्तंभ है। उन्होंने प्राचीन संतों की आध्यात्मिक परंपरा को ऊँचा किया है। आचार्य बालकृष्ण जी एक प्रसिद्ध विद्वान और एक महान गुरु है, जिनके मार्गदर्शन और नेतृत्व में आयुर्वेदिक उपचार और अनुसंधान ने नए आयामों को छूआ है।

Share
Published by
आचार्य श्री बालकृष्ण

Recent Posts

गले की खराश और दर्द से राहत पाने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मौसम बदलने पर अक्सर देखा जाता है कि कई लोगों के गले में खराश की समस्या हो जाती है. हालाँकि…

5 months ago

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज (Home Remedies for Dengue Fever)

डेंगू एक गंभीर बीमारी है, जो एडीस एजिप्टी (Aedes egypti) नामक प्रजाति के मच्छरों से फैलता है। इसके कारण हर…

6 months ago

वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याएं और इनसे बचने के घरेलू उपाय

वायु प्रदूषण का स्तर दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है और सर्दियों के मौसम में इसका प्रभाव हमें साफ़ महसूस…

6 months ago

Todari: तोदरी के हैं ढेर सारे फायदे- Acharya Balkrishan Ji (Patanjali)

तोदरी का परिचय (Introduction of Todari) आयुर्वेद में तोदरी का इस्तेमाल बहुत तरह के औषधी बनाने के लिए किया जाता…

1 year ago

Pudina : पुदीना के फायदे, उपयोग और औषधीय गुण | Benefits of Pudina

पुदीना का परिचय (Introduction of Pudina) पुदीना (Pudina) सबसे ज्यादा अपने अनोखे स्वाद के लिए ही जाना जाता है। पुदीने…

2 years ago

गिलोय के फायदे, नुकसान व औषधीय गुण (Benefits of Giloy & its Medicinal Properties in Hindi)

गिलोय का परिचय (Introduction of Giloy) आपने गिलोय के बारे में अनेक बातें सुनी होंगी और शायद गिलोय के कुछ…

2 years ago