Categories: घरेलू नुस्खे

बालों के जुएं हटाने के घरेलू नुस्खे : Home remedies for Lice

जूँ एक प्रकार का परजीवी है जो मनुष्य के शरीर में पैदा होता है। आमतौर पर यह सिर्फ बालों में ही होती है लेकिन कुछ लोगों के शरीर में पहने गए कपड़ों में पसीने वाले स्थानों में भी हो जाते हैं। इनका कार्य भी शरीर का खून पीना होता है। यह साफ-सफाई के अभाव में होते हैं।

Contents

जूँ क्या है या किसे कहते हैं? (What is Lice?)

जूँ परजीवी, मनुष्य के शरीर में पैदा होते हैं। आमतौर पर यह बालों में ही पाए जाते हैं। इनका शरीर लंबा, पंखहीन और छोटे होते हैं, इनके एंटीना के चार भाग होते हैं, सिर छोटा और मुँह भेदक होता है। यह अपने मुँह से त्वचा में छेद करके खून पीते हैं और जब यह खून पीते हैं तो उस जगह पर खुजली होने लगती है। यह शरीर में छेद करते समय चेतनाशून्य पदार्थ (संवेदना शून्य) छोड़ते हैं जिसके कारण जब वे काटते तब दर्द महसूस नहीं होता है। यह ज्यादातर लम्बे बालों वाले लोगों में साफ-सफाई की कमी की वजह से हो जाते हैं।

एक व्यस्क जूँ का आयुकाल पोषक त्वचा के ऊपर 30 दिनों का होता है। इस समय मादा जूँ करीब 90 अण्डे देती है तथा 710 दिन के अन्दर इन अण्डों में से जूँ निकल आते हैं और अगले 10 दिनों में यह व्यस्क जूँ के रूप में परिवर्तित हो जाते हैं। इसी तरह यह प्रक्रिया चलती रहती है।

और पढ़े- बालों का झड़ना रोकने के घरेलू उपाय

जूँ क्यों होते हैं? (Causes of Lice)

जीवनशैली में व्यक्तिगत साफ-सफाई की कमी के कारण भी जुएँ पड़ जाती हैं। जो लोग शारीरिक स्वच्छता का ध्यान नहीं रखते जैसे कईं दिनों तक न नहाना, बालों को न धोना, दूषित भोजन करना, गन्दी जगह पर बैठना और जुओं से ग्रस्त व्यक्ति के साथ बैठना या कपड़े, तौलिया आदि शेयर करना, ऐसे सब जीवनशैली में लापरवाही के कारण बालों में जुएँ पड़ जाती हैं।

जूँ होना किसी बीमारी का संकेत नहीं है परन्तु यह रूसी की समस्या वाले लोगों में तथा तैलीय त्वचा में आसानी से पनप जाते हैं। बालों की सफाई न करना, गन्दगी और चिपचिपेपन के कारण बालों में जूँ हो जाते हैं। इसके अलावा जूओं से ग्रस्त व्यक्ति के पास बैठने या सोने से जुएँ होती हैं।

जूँ होना किसी बीमारी का संकेत नहीं है परन्तु यह रूसी की समस्या वाले लोगों में तथा तैलीय त्वचा में आसानी से पनप जाते हैं। बालों की सफाई न करना, गन्दगी और चिपचिपेपन के कारण बालों में जूँ हो जाते हैं। इसके अलावा जूओं से ग्रस्त व्यक्ति के पास बैठने या सोने से जुएँ होती हैं।

और पढ़े- त्वचा में रौनक बढ़ाने के घरेलू उपाय

जूँ होने के लक्षण (Symptoms of Lice)

-सिर में खुजली होना इसका मुख्य लक्षण है- बालों में जूँ जिनको जूँ हुआ है उनके सिर के संपर्क में आने से हो जाता है। जूँ असंख्य अण्डे देते हैं जिन्हें ‘लीख’ कहते हैं को पैदा करने के बाद तीसरे दिन ही वे ‘लीख’ फूट कर जूँ बन जाते हैं फिर सिर की त्वचा में भेदन कर खून पीते हैं जिसके कारण सिर में अत्यधिक खुजली होती है।

-जुओं के चलने या रेंगने से सिर में परेशानी महसूस होती है।

-बालों में जूँ के अण्डे यानी ‘लीख’ चिपक जाते हैं जो सफेद रंग के बहुत छोटे रूप में बालों में दिखाई देते हैं।

जूँ से बचने के उपाय (Prevention of Lice)

जूँ और लीख न हो इसके लिए व्यक्ति को अपनी जीवनशैली में कुछ बालों का ध्यान रखना चाहिए जैसे- शारीरिक साफ-सफाई तथा बालों की स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। प्रतिदिन स्नान एवं स्वच्छ कपड़े पहनने चाहिए। अत्यन्त पसीने एवं गन्दे कपड़ों के कारण कपड़ों पर पड़ने वाली जुएँ हो सकती हैं। इसके साथ ही जुओं से ग्रसित व्यक्ति के पास बैठना तथा सोना नहीं चाहिए और उनके कपड़े या तौलिया भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

जूँ होने पर बालों में तेल लगाना लाभदायक होता है। नारियल तेल तथा जैतून के तेल में जुओं को मारने की क्षमता होती है। बालों में तेल लगाने से जुओं को घुटन होती है और वह मर जाते हैं, लेकिन तेल लगाने से केवल जूँ नष्ट होते हैं, जूँ के अण्डे (लीख) इससे नष्ट नहीं होते। जुओं को खत्म करने के लिए कम से कम 89 घण्टों तक सिर में तेल लगाकर रखना चाहिए तथा उसके बाद बालों को धोकर कंघी से जुओं को निकालना चाहिए।

बालों से जूँ निकालने के घरेलू नुस्ख़े (Home Remedies for Head Lice)

बच्चों के बालों में सबसे ज्यादा जूँ की परेशानी होती है। उनको इस परेशानी से निजात दिलाने में यह घरेलू नुस्ख़े बहुत काम आते हैं।

कंघी जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Comb to Get Rid of Headlice)

गीले बालों में पतले दाँतों वाली कंघी से बालों को ऊपर से नीचे की ओर लाएँ, ऐसा दिन में दो बार करने से धीरे-धीरे जुएँ निकल जाएंगी।

टीट्री ऑयल और सौंफ तेल जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of TeeTree Oil or Anise Oil to Get Rid of Headlice)

प्राकृतिक पौधों से बने तेलों के इस्तेमाल से भी जुओं को नष्ट किया जा सकता है। जैसे- टीट्री ऑयल या सौंफ तेल । इन्हें बालों पर लगाकर 78 घण्टे के लिए रहने दें फिर बालों को धोकर कंघी करें।

जैतून तेल या कैस्टर ऑयल जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Castor Oil to Get Rid of Headlice)

जैतून का तेल सिर पर लगाकर रात भर के लिए छोड़ दें तथा सुबह बालों को धोकर पतले दाँतों वाली कंघी से बालों को सुलाझाए।  इसके प्रयोग से बालों में जूँ एवं उसके अण्डे नहीं पनप पाते।

और पढ़ें बालों की समस्या के लिए छरीला के फायदे

पेट्रोलियम जेली जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Petroleum Jelly to Get Rid of Headlice)

पैट्रोलियम जेली को बालों में लगाकर 45 घण्टे के लिए छोड़ दें और फिर बालों को धोकर कंघी करें।

नीम जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Neem to Get Rid of Headlice)

नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाकर बालों पर लगाएं और सूख जाने पर धो दें। इससे जुएँ मर जाती हैं।

नींबू और अदरक का पेस्ट जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Lemon and Ginger Paste to Get Rid of Headlice)

दो चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच अदरक का पेस्ट मिलाएं और इसको अपने सिर में 20 मिनट के लिए लगा रहने दें और सूख जाने पर ठण्डे पानी से धो लें। यह प्रक्रिया हफ्ते में दो बार करने से बेहतर परिणाम मिलता है।

तुलसी जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Tulsi to Get Rid of Headlice)

तुलसी के पत्तों का पेस्ट बनाएँ और इसे सिर में लगा कर 20 मिनट तक सूखने दें। सूख जाने पर सिर को धो लें तथा सोने से पहले भी कुछ पत्तियों को तकिए के नीचे रखें।

और पढ़ेंबहेड़ा के फायदे बालों के लिए

लहसुन और नींबू का पेस्ट जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Garlic and Lemon Paste to Get Rid of Headlice)

लहसुन के पेस्ट में नींबू का रस मिलाकर बालों पर लगाएँ तथा एक घण्टे बाद बालों को धोने से जूँ आसानी से मरकर निकल जाते हैं।

नमक और सिरके का घोल जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Salt and Vinegar Solution to Get Rid of Headlice)

नमक और सिरके का घोल बनाकर अपने सिर में लगाकर दो घण्टे के लिए छोड़ दें इसके बालों को अच्छी प्रकार धो लें। तीन दिन में ही जुएँ नष्ट हो जाएंगी।

जैतून के तेल और बेकिंग सोडा जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Castor Oil and Baking Soda to Get Rid of Headlice)

जैतून के तेल में बेकिंग सोडा मिलाकर बालों में लगाएं और रात भर लगा रहने दें। सुबह अच्छी प्रकार बालों को धोकर कंघी करें।

और पढें अरंडी के तेल के फायदे

नारियल का तेल और सेब का सिरका जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Coconut Oil and Apple Cider Vinegar to Get Rid of Headlice)

नारियल का तेल और सेब का सिरका इनको आपस में मिलाकर बालों में लगाएँ। कुछ घंटे बाद बालों को धोकर कंघी करें।

और पढ़े- रूखे बालों के लिए घरेलू उपचार

सफेद सिरका जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of White Vinegar to Get Rid of Headlice)

सफेद सिरके को अपने बालों में अच्छी प्रकार लगाए और 34 घंटे के लिए तौलिए से ढक कर रखें। इसके बाद बालों को धोकर कंघी करें तो सारे जूँ अपने आप बाहर आ जाते हैं।

अजवाइन जूँ निकालने में फायदेमंद (Use of Carom to Get Rid of Headlice)

10 ग्रा. अजवाइन को बारीक पीसकर उसमें आधा नींबू का रस निच़ोड़ 5 ग्रा. फिटकरी पाउड़र व छाछ को मिलाकर बालों में मलने से बालों की रूसी ठीक होती है तथा लीखें व जुएँ मर जाती हैं।

और पढ़े- रूसी से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (When to See a Doctor?)

जूँ होने पर डॉक्टर से मिलने की आवश्यकता नहीं होती अपितु व्यक्तिगत साफ-सफाई का ध्यान रखना चाहिए। इसके साथ घरेलू उपचारों या औषधीय तेल और शैम्पू द्वारा और जीवनशैली में बदलाव से जुओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

और पढ़ेंबालों का रूखापन कम करने के घरेलू उपाय

आचार्य श्री बालकृष्ण

आचार्य बालकृष्ण, स्वामी रामदेव जी के साथी और पतंजलि योगपीठ और दिव्य योग मंदिर (ट्रस्ट) के एक संस्थापक स्तंभ है। उन्होंने प्राचीन संतों की आध्यात्मिक परंपरा को ऊँचा किया है। आचार्य बालकृष्ण जी एक प्रसिद्ध विद्वान और एक महान गुरु है, जिनके मार्गदर्शन और नेतृत्व में आयुर्वेदिक उपचार और अनुसंधान ने नए आयामों को छूआ है।

Share
Published by
आचार्य श्री बालकृष्ण

Recent Posts

गले की खराश और दर्द से राहत पाने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मौसम बदलने पर अक्सर देखा जाता है कि कई लोगों के गले में खराश की समस्या हो जाती है. हालाँकि…

5 months ago

कोरोना से ठीक होने के बाद होने वाली समस्याएं और उनसे बचाव के उपाय

अभी भी पूरा विश्व कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह उबर नहीं पाया है. कुछ महीनों के अंतराल पर…

6 months ago

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज (Home Remedies for Dengue Fever)

डेंगू एक गंभीर बीमारी है, जो एडीस एजिप्टी (Aedes egypti) नामक प्रजाति के मच्छरों से फैलता है। इसके कारण हर…

6 months ago

वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याएं और इनसे बचने के घरेलू उपाय

वायु प्रदूषण का स्तर दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है और सर्दियों के मौसम में इसका प्रभाव हमें साफ़ महसूस…

7 months ago

Todari: तोदरी के हैं ढेर सारे फायदे- Acharya Balkrishan Ji (Patanjali)

तोदरी का परिचय (Introduction of Todari) आयुर्वेद में तोदरी का इस्तेमाल बहुत तरह के औषधी बनाने के लिए किया जाता…

2 years ago

Pudina : पुदीना के फायदे, उपयोग और औषधीय गुण | Benefits of Pudina

पुदीना का परिचय (Introduction of Pudina) पुदीना (Pudina) सबसे ज्यादा अपने अनोखे स्वाद के लिए ही जाना जाता है। पुदीने…

2 years ago