Categories: घरेलू नुस्खे

मसूड़ों के सूजन के घरेलू उपचार : Home Remedies for Gum Swelling

मसूड़ों में सूजन आने को जिंजिवाइटिस (Gingivitis) भी कहा जाता है। इसमें मसूड़े फूल जाते हैं और उनमें से खून बहने लगता है। कभी-कभी ब्रश या फ्लॉस करते समय अपने आप ही मसूड़ों से खून निकल आता है। ऐसे में मसूड़े ढीले पड़ जाते हैं, जिससे दाँतों को काफी नुकसान पहुँचता है। यदि इसका समय पर इलाज न किया जाए तो दाँत हिलकर गिरने लगते हैं।

Contents

मसूड़ों में सूजन होना क्या होता है? (What is Gum Swelling?)

आयुर्वेद के अनुसार मसूड़ों में होने वाली सूजन और ब्लीडिंग पित्त एवं रक्त दोष के कारण होता है। अनुचित आहार एवं साफ-सफाई की कमी के कारण दोष असंतुलित होकर विभिन्न लक्षण नजर आने लगते हैं।

मसूड़ों में सूजन की समस्या का यदि समय पर उपचार नहीं किया जाता तो यह गंभीर रूप धारण कर सकता है। जैसे पायरिया या पेरियोडोटाइटिस (Periodontitis)। यदि ब्रश करते वक्त या ब्रश करने के बाद दाँतों से खून निकलना और दर्द होना। इसी प्रकार मसूड़ों में सूजन पेरियोडोटाइटिस (Periodontitis) का भी संकेत हो सकता है। इसमें मसूड़ों के सॉफ्ट टिशु तथा दाँतों को सहारा देने वाली हड्डी को क्षति पहुँचती है जिसके कारण दाँत ढीला होकर गिर जाते हैं या दाँतों के बीच खाली स्थान बन जाता है।

और पढ़े- दांत दर्द के लिए घरेलू इलाज

मसूड़ों में सूजन क्यों होता है? (Causes of Gum Swelling)

हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी की वजह से भी मसूड़ों में सूजन आने लगती है जिससे व्यक्ति को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। मसूड़ों में सूजन का एक और कारण मुँह में होने वाला संक्रमण भी हो सकता है। इस संक्रमण के कारण मसूड़ों में सूजन के साथ-साथ दर्द भी होने लगता है।

मसूड़ों में सूजन होने के लक्षण (Symptoms of Gum Swelling)

मसूड़ों में सूजन के साथ उनका रंग लाल हो जाता है, साथ ही कईं बार मसूड़ों से खून भी निकलने लगता है। अक्सर ब्रश करते समय या कुछ चबाते हुए मसूड़ों से खून निकलने लगता है। मसूड़ों में सूजन की समस्या के साथ उनमें दर्द रहता है तथा मुँह से दुर्गन्ध आती है। उपचार न करने पर दाँत ढीले होकर गिरने की सम्भावना रहती है।

और पढ़े-दांतों का क्षय रोकने के लिए घरेलू उपाय

मसूड़ों में सूजन होने पर सावधानियां (Precaution Tips for Gum Swelling)

मसूड़ों में सूजन होने पर मुलायम तथा आसानी से चबाये जाने वाले पदार्थ ही लेने चाहिए। अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए साथ ही विटामिन-सी से युक्त फलों का सेवन करें। दाँतों को अच्छी प्रकार मुलायम ब्रश से साफ करें। भोजन के बाद सोने से पहले भी ब्रश करें तथा कुछ भी खाने के बाद अच्छी प्रकार कुल्ला करें। दाँतों की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

-अधिक गर्म, तीखा एवं मसालेदार भोजन न करें। इससे मसूड़ों में और तकलीफ हो सकती है।

-तम्बाकू, एल्कोहल तथा केमिकल युक्त माउथवॉश का प्रयोग बिल्कुल न करें।

-टॉफी,च्यूइंग गम(Chewing gum) आदि न खाएं।

मसूड़ों में सूजन कम करने के घरेलू उपाय (Home remedies for Gum Swelling)

आम तौर पर मसूड़ों मे सूजन कम करने के लिए लोग सबसे पहले घरेलू नुस्ख़ों को ही आजमाते हैं।  यहां हम पतंजली के विशेषज्ञों द्वारा पारित कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे जिनके प्रयोग से मसूड़ों में सूजन होने पर कष्ट से आराम पाया जा सकता है।

लौंग तेल मसूड़ों में सूजन कम करने में फायदेमंद (Clove Oil Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

लौंग के तेल में 23 छोटी काली मिर्च का पाउडर मिलाएं और मसूड़ों पर लगाएं। लौंग के तेल में क्रिनोलिन होता है जो एक एंटी-ऑक्सिडेंट होता है, इसलिए लौंग का तेल मसूड़ों के दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है।

हल्दी का इस्तेमाल मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Turmeric Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

-एक चौथाई चम्मच हल्दी पाउडर को मसूड़ों पर लगाएं और 5 मिनट बाद इसे रगड़े। दिन में दो बार इसे करें। हल्दी में करक्यूमिन (Curcumin) होता जो एक एंटी-ऑक्सिडेंट (Anti-oxidant) होता है और इसमें एंटी-इंफ्लैमटोरी (Anti-inflammatory) गुण भी होते हैं इसलिए यह मसूड़ों की सूजन को कम करता है।

एक चम्मच हल्दी पाउडर, आधा चम्मच नमक, आधा चम्मच सरसों का तेल लेकर मिला लें और मसूड़ों पर लगाएँ। लगाने के बाद 1015 मिनट तक इसे ऐसा ही रहने दें फिर बाद में पानी से कुल्ला कर लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार करें।

और पढ़ेंसूजन कम करने में नारियल के फायदे

नमक मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Salt Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

आधे गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक डालें और इसे पानी से दिन में दो-तीन बार कुल्ला करें। नमक रोगाणुओं को समाप्त करता है और सूजन को कम करता है।

और पढ़ेंसूजन को कम करने में चिरायता के फायदे

बेकिंग सोडा मसूड़ों में सूजन कम करने में फायदेमंद (Baking Soda Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

बेकिंग सोडा में बैक्टिरिया को खत्म करने की शक्ति होती है। बेकिंग सोडा को मसूड़ों पर पेस्ट की तरह लगाएं। इसमें हल्दी मिलाकर भी पेस्ट की तरह इसे मसूड़ों पर लगाएं।

और पढ़ेमसूड़ों के दर्द में कासनी के फायदे

नींबू मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Lemon Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर दिन में दो-तीन बार कुल्ला करें। नींबू में पोटाशियम (Potassium), विटामिन-सी (Vitamin-C), विटामिन-ए (Vitamin-A), कैल्सियम(Calcium) के साथ ही एंटी-बैक्टिरीयल (Anti-bacterial) गुण भी होते हैं।

और पढ़े- नींबू के दिलचस्प फायदे

कैस्टर ऑयल मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Castor Oil Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

-मसूड़ों में अरंडी का तेल (Castor oil) लगाए। इसके Anti-inflammatory गुण मसूड़ों की सूजन को दूर करते हैं।

-एरण्ड के तेल में थोड़ी मात्रा में कपूर मिलाकर प्रतिदिन सुबह तथा शाम मसूड़ों की मालिश करें।

और पढ़े- अरंडी तेल से कील-मुँहासों के दाग से छुटकारा

एलोवेरा जेल मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Aloe Vera Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

एलोवेरा जेल में एंटी-बैक्टिरीयल (Anti-bacterial) और एंटी-फंगल (Anti-fungal) गुण दोनों ही मौजूद रहते हैं। ताजे एलोवेरा के जेल को मसूड़ों पर लगाकर 5 मिनट के लिए छोड़ दें, फिर पानी से कुल्ला कर लें। जब तक समस्या ठीक न हो जाए तब तक इस उपचार को करते रहें।

सरसों का तेल मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Mustard Oil Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

सरसों के तेल में थोड़ा नमक मिलाकर मसूड़ों पर लगाएं। इस उपचार का बार-बार प्रयोग करने से जल्द ही संक्रमण से छुटकारा मिलता है।

बबूल मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Babol Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

बबूल की छाल के काढ़े से कुल्ला करें। इससे मसूड़ों की सूजन कम होने लगती है और आराम मिलता है।

अजवाइन मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Ajwain Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

अजवायन को तवे पर भूनकर पीसने के बाद इसमें 23 बूँद राई का तेल मिलाकर मसूड़ों पर मलें। इससे सूजन के साथ दाँतों के अन्य रोग भी ठीक हो जाते हैं।

अदरक मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Ginger Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

अदरक के रस में थोड़ा नमक मिलाकर अच्छे से मिला लें। उसके बाद मिश्रण से धीरे-धीरे मसूड़ों को लगायें।

प्याज मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Onion Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

प्याज को पीसकर उसमें नमक मिलाकर खाएँ एवं प्याज को पीसकर मसूड़ों पर दिन में करीब तीन बार मलने से मसूड़ों की सूजन खत्म होती है।

और पढ़े- जानें प्याज के फायदे

फिटकरी के इस्तेमाल से मसूड़ों की सूजन होती है कम (Alum Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

फिटकरी के प्रयोग से भी मसूड़ों की सूजन दूर होती है। फिटकरी के चूर्ण को मसूड़ों पर मलने से मसूड़ों की सूजन कम होती है।

टी ट्री ऑयल मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Tea Tree Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

टी ट्री ऑयल से मसूड़ों पर मालिश करें। इससे मसूड़ों का दर्द धीरे-धीरे कम होने लगता है और फिर आराम मिलता है।

सेब का सिरका मसूड़ों के सूजन में फायदेमंद (Tea Tree Beneficial from Gum Swelling in Hindi)

सेब के सिरके में हल्का एसिड होता है जो मुँह के पीएच को संतुलित करता है और मसूड़ों की सूजन को कम करता है।

और पढ़े: दांतों के रोगों में बरगद के फायदे

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (When to See a Doctor?)

यदि घरेलु उपचार करने पर मसूड़ों की सूजन एवं अन्य लक्षणों से आराम नहीं मिलता तो तुरन्त ही डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए। मसूड़ों से खून निकलने और सूजन के कारण दाँतों की जड़े ढीली पड़ जाती है और दाँत निकलने लगते हैं। उपचार न होने पर स्थिति और भी गम्भीर हो सकती है इसलिए चिकित्सक की सलाह लेनी आवश्यक होती है।

आचार्य श्री बालकृष्ण

आचार्य बालकृष्ण, स्वामी रामदेव जी के साथी और पतंजलि योगपीठ और दिव्य योग मंदिर (ट्रस्ट) के एक संस्थापक स्तंभ है। उन्होंने प्राचीन संतों की आध्यात्मिक परंपरा को ऊँचा किया है। आचार्य बालकृष्ण जी एक प्रसिद्ध विद्वान और एक महान गुरु है, जिनके मार्गदर्शन और नेतृत्व में आयुर्वेदिक उपचार और अनुसंधान ने नए आयामों को छूआ है।

Share
Published by
आचार्य श्री बालकृष्ण

Recent Posts

गले की खराश और दर्द से राहत पाने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मौसम बदलने पर अक्सर देखा जाता है कि कई लोगों के गले में खराश की समस्या हो जाती है. हालाँकि…

8 months ago

कोरोना से ठीक होने के बाद होने वाली समस्याएं और उनसे बचाव के उपाय

अभी भी पूरा विश्व कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह उबर नहीं पाया है. कुछ महीनों के अंतराल पर…

8 months ago

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज (Home Remedies for Dengue Fever)

डेंगू एक गंभीर बीमारी है, जो एडीस एजिप्टी (Aedes egypti) नामक प्रजाति के मच्छरों से फैलता है। इसके कारण हर…

9 months ago

वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याएं और इनसे बचने के घरेलू उपाय

वायु प्रदूषण का स्तर दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है और सर्दियों के मौसम में इसका प्रभाव हमें साफ़ महसूस…

9 months ago

Todari: तोदरी के हैं ढेर सारे फायदे- Acharya Balkrishan Ji (Patanjali)

तोदरी का परिचय (Introduction of Todari) आयुर्वेद में तोदरी का इस्तेमाल बहुत तरह के औषधी बनाने के लिए किया जाता…

2 years ago

Pudina : पुदीना के फायदे, उपयोग और औषधीय गुण | Benefits of Pudina

पुदीना का परिचय (Introduction of Pudina) पुदीना (Pudina) सबसे ज्यादा अपने अनोखे स्वाद के लिए ही जाना जाता है। पुदीने…

2 years ago