buy medicine online indiamedicine onlineloading...

    Lisinopril

    Lisinopril के बारे में जानकारी

    Lisinopril का उपयोग

    Lisinopril का इस्तेमाल बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर या रक्तचाप और हार्ट फेल होना में किया जाता है यह हार्ट अटैक और स्ट्रोक के खतरे को कम करती है।

    Lisinopril कैसे काम करता है

    Lisinopril रक्त वाहिकाओं को शिथिल करता है जिससे रक्तचाप निम्न होता है और साथ ही हृदय का कार्यभार घट जाता है।

    Lisinopril के सामान्य दुष्प्रभाव

    रक्तचाप में कमी, खांसी, रक्त में पोटेशियम के स्तर में वृद्धि, थकान, दुर्बलता, चक्कर आना, गुर्दे की दुर्बलता
    Content Details
    Last updated on:
    editorial-image
    Want to know more?
    Read Our Editorial Policy

    Lisinopril के लिए उपलब्ध दवा

    • ₹69 to ₹253
      Torrent Pharmaceuticals Ltd
      3 variant(s)
    • ₹73 to ₹243
      Lupin Ltd
      3 variant(s)
    • ₹36 to ₹109
      Ipca Laboratories Ltd
      3 variant(s)
    • ₹39 to ₹136
      Micro Labs Ltd
      3 variant(s)
    • ₹17 to ₹61
      Aristo Pharmaceuticals Pvt Ltd
      3 variant(s)
    • ₹98 to ₹143
      Lupin Ltd
      2 variant(s)
    • ₹55
      Litaka Pharmaceuticals Ltd
      1 variant(s)
    • ₹13 to ₹51
      Kopran Ltd
      5 variant(s)
    • ₹38
      Shine Pharmaceuticals Ltd
      1 variant(s)
    • ₹35
      Blue Cross Laboratories Ltd
      1 variant(s)

    Lisinopril के लिए विशेषज्ञ की सलाह

    • Lisinopril लेने पर लगातार सूखी खांसी होना आम बात है। यदि खांसी तकलीफदेह हो गई है तो डॉक्टर को सूचित करें। खांसी की कोई दवा न लें।
    • इलाज शुरू करने के पहले कुछ दिनों में, खास तौर पर पहली खुराक के बाद, Lisinopril के कारण चक्कर आ सकता है। इससे बचने के लिए, Lisinopril को सोने के समय लें, पर्याप्त पानी पीयें और बैठने या लेटने के बाद उठते समय धीरे-धीरे उठें।
    • Lisinopril को लेने के बाद चक्कर जैसा महसूस होने पर गाड़ी न चलाएं।.
    • पोटेशियम सप्लीमेंट और पोटेशियम युक्त चीजें जैसे केला और ब्रोकोली न लें।
    • अपने डॉक्टर को तुरंत सूचित करें यदि इस दवा को लेने के दौरान आप गर्भवती हैं या गर्भवती बनने की योजना बना रही हैं।
    • यदि आपको बार-बार संक्रमण के संकेत (गले में खरास, ठण्ड, बुखार) मिल रहे हैं तो डॉक्टर को सूचित करें, ये सब न्यूट्रोपेनिया (असामान्य रूप से न्यूट्रोफिल, एक प्रकार की सफ़ेद रक्त कोशिकाएं, नामक कोशिकाओं की कम संख्या) के संकेत हो सकते हैं।