buy medicine online indiamedicine onlineloading...

    Hydroquinone

    Hydroquinone के बारे में जानकारी

    Hydroquinone का उपयोग

    Hydroquinone का इस्तेमाल झाई (त्वचा पर डार्क और फीका पड़ा हुआ पैच) में किया जाता है

    Hydroquinone कैसे काम करता है

    Hydroquinone उस रसायन के उत्पादन को रोकता है जो त्वचा को रंग प्रदान करता है (मेलानिन)
    हाइड्रोक्विनोन, त्वचा को काला करने वाले मेलेनिन नामक त्वचा वर्णक के संचय को कम करके त्वचा को ब्लीच करता है। यह मेलेनिन के संश्लेषण में हस्तक्षेप करता है और मेलेनिन (मेलेनोसाइट) पैदा करने वाली कोशिकाओं के भीतर महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं में बाधा डालता है। हाइड्रोक्विनोन का ब्लीचिंग प्रभाव प्रतिवर्ती (प्रतिवर्ती विरंजकता) होता है।

    Hydroquinone के सामान्य दुष्प्रभाव

    रूखी त्वचा, खुजली, त्वचा का जल जाना , त्वचा पर पपड़ी बनना , त्वचा का रंग लाल होना
    Content Details
    Last updated on:
    editorial-image
    Want to know more?
    Read Our Editorial Policy

    Hydroquinone के लिए उपलब्ध दवा

    • ₹105
      Yash Pharma Laboratories Pvt Ltd
      1 variant(s)
    • ₹117
      Abbott
      1 variant(s)
    • ₹30 to ₹375
      Unimarck Healthcare Ltd
      5 variant(s)
    • ₹81 to ₹104
      Menarini India Pvt Ltd
      2 variant(s)
    • ₹79
      Resilient Cosmecueticals Pvt Ltd
      1 variant(s)
    • ₹72
      Palsons Derma
      1 variant(s)
    • ₹90
      Panzer Pharmaceuticals Pvt Ltd
      1 variant(s)
    • ₹70
      Dermo Care Laboratories
      1 variant(s)
    • ₹56
      Dermo Care Laboratories
      1 variant(s)
    • ₹157
      Percos India Pvt Ltd
      1 variant(s)

    Hydroquinone के लिए विशेषज्ञ की सलाह

    • कृपया हाइड्रोक्विनोन उत्पादों का इस्तेमाल सावधानीपूर्वक करें। यदि इसका इस्तेमाल निर्देशानुसार न किया जाए तो इसकी स्किन ब्लीचिंग क्रिया से अवांछित कॉस्मेटिक प्रभाव पड़ सकते हैं।
    • हाइड्रोक्विनोन के इस्तेमाल के समय सनस्क्रीन का इस्तेमाल आवश्यक होता है। अनावश्यक रूप से धूप के संपर्क में आने से बचें और उपचारित हिस्से को कपड़े से ढंकें। धूप के कम से कम संपर्क में आने से हाइड्रोक्विनोन की ब्लीचिंग प्रभाव उल्टा हो सकता है।
    • यदि हाइड्रोक्विनोन लगाने के बाद आपको ऐलर्जिक त्वचा प्रतिक्रिया हुई हो या आपने त्वचा को नीले-काले गहरे रंग में बदलता अनुभव करते हैं तो उसके इस्तेमाल को रोक दें और तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
    • हाइड्रोक्विनोनहाइड्रोक्विनोन का इस्तेमाल केवल त्वचा पर बाहरी तौर से करना चाहिए। यह क्रीम यदि आपकी आंखों में, मुंह में या आपके ओठों पर लग जाए तो उसे अच्छी तरह से पानी से धोएं।
    • हाइड्रोक्विनोन क्रीम का इस्तेमाल टूटी, जलन वाली या जख्मी त्वचा पर नहीं करना चाहिए।
    • हाइड्रोक्विनोन क्रीम का इस्तेमाल ऐसे अन्य क्रीम के साथ नहीं करना चाहिए, जिनमें पेरॉक्साइड हो (हाइड्रोजन पेरॉक्साइड/बेंजॉयल पेरॉक्साइड)। इससे आपकी त्वचा पर गहरा दाग पड़ सकता है, जिसे आप पेरॉक्साइड का इस्तेमाल रोककर उस स्थान को साबुन पानी से धोकर दूर कर सकते हैं।
    • बिना डॉक्टर की सलाह के हाइड्रोक्विनोन का इस्तेमाल ऐसे क्रीम के साथ नहीं करना चाहिए जिनमें रेसोर्सिनोल, फेनोल या सेलीसाइलिक एसिड मौजूद हो।
    • देख लें कि क्या हाइड्रोक्विनोन क्रीम में सल्फाइट्स मौजूद है। ऐसे उत्पाद दमा के रोगियों में ऐलर्जिक प्रतिक्रियाएं ला सकती हैं।
    • ऐलर्जिक प्रतिक्रिया से बचने के लिए आपको आपके डॉक्टर त्वचा संवेदनशीलता जांच करने की सलाह दे सकते हैं।
    • यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने वाली हैं अथवा आय स्तनपान कराती हैं तो हाइड्रोक्विनोन का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह करें।