buy medicine online indiamedicine onlineloading...

    Gliclazide

    Gliclazide के बारे में जानकारी

    Gliclazide का उपयोग

    Gliclazide का इस्तेमाल टाइप 2 डायबिटीज में किया जाता है यह टाइप-2 डायबिटीज के वयस्क मरीजों में डाइट और एक्सरसाइज के साथ इस्तेमाल की जाती है जिससे ब्लड शुगर को बेहतर तरीके से नियंत्रित किया जा सके।

    Gliclazide कैसे काम करता है

    Gliclazide अग्न्याशय द्वारा उत्सर्जित इन्सुलिन की मात्रा को बढ़ाता है ताकि रक्त ग्लुकोज कम हो सके।

    Gliclazide के सामान्य दुष्प्रभाव

    रक्त शर्करा के स्तर में गिरावट, उबकाई , सिर दर्द, चक्कर आना
    Content Details
    Last updated on:
    editorial-image
    Want to know more?
    Read Our Editorial Policy

    Gliclazide के लिए उपलब्ध दवा

    • ₹65 to ₹182
      Serdia Pharmaceuticals India Pvt Ltd
      4 variant(s)
    • ₹42 to ₹184
      Dr Reddy's Laboratories Ltd
      7 variant(s)
    • ₹37 to ₹120
      Panacea Biotec Ltd
      4 variant(s)
    • ₹43 to ₹110
      Ipca Laboratories Ltd
      5 variant(s)
    • ₹40 to ₹100
      Micro Labs Ltd
      6 variant(s)
    • ₹60 to ₹200
      Alembic Pharmaceuticals Ltd
      2 variant(s)
    • ₹39 to ₹101
      Indi Pharma
      4 variant(s)
    • ₹35 to ₹74
      Aristo Pharmaceuticals Pvt Ltd
      5 variant(s)
    • ₹42 to ₹73
      Alkem Laboratories Ltd
      2 variant(s)
    • ₹59 to ₹95
      Indoco Remedies Ltd
      3 variant(s)

    Gliclazide के लिए विशेषज्ञ की सलाह

    • टाइप 2 डायबिटीज को सिर्फ एक उचित आहार की मदद से या व्यायाम के साथ एक उचित आहार की मदद से नियंत्रित किया जा सकता है। यदि आपको डायबिटीज है तो आपको हमेशा सुनियोजित आहार और व्यायाम का ही सहारा लेना चाहिए, तब भी जब आप कोई एंटीडायबेटिक दवा ले रही हैं।
    • लो ब्लड शुगर जानलेवा होता है। लो ब्लड शुगर निम्नलिखित कारण से हो सकता है:
      • निर्धारित भोजन या नाश्ता करने में देर हो जाना या चूक जाना।
      • सामान्य से अधिक व्यायाम करना।
      • काफी परिमाण में शराब पीना।
      • बहुत ज्यादा इन्सुलिन का इस्तेमाल करना।
      • बीमारी (उल्टी या दस्त)।
    • लो ब्लड शुगर के लक्षण (चेतावनी चिन्ह) हैं: तेज धड़कन, पसीना निकलना, ठंडी पीली त्वचा, कंपकंपी लगना, उलझन या चिड़चिड़ापन, सिरदर्द, उबकाई, और बुरे सपने। सुनिश्चित करें कि जल्दी से काम करने वाले शुगर सोर्स तक आपकी पहुँच है जो लो ब्लड शुगर को ठीक करते हैं। लक्षणों के दिखाई देने के बाद तुरंत जल्दी से काम करने वाले शुगर के किसी रूप का इस्तेमाल करने से लो ब्लड शुगर का स्तर और ख़राब होने से रुक जाएगा।
    • शराब पीने से गंभीर लो ब्लड शुगर होने की सम्भावना बढ़ सकती है।